पड़ोंसी ने किशोरी को अगवा कर किया दुराचार, विरोध पर मारी कुल्हाड़ी

lucknow nigoha rape
पड़ोंसी ने किशोरी को अगवा कर किया दुराचार, विरोध पर मारी कुल्हाड़ी

Rape In Nigoha With A Girl After Kidnapping

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के निगोंहा इलाके में पड़ोंसी गांव की युवती को अगवा कर जंगल में ले जाकर दुराचार किया। पी​ड़िता ने विरोध किया तो आरोपी ने उसे कुल्हाड़ी मारकर लहुलूहान कर दिया। करीब बारह घंटे तक उसे बंधक बनाए रखने के बाद लहुलूहान हालत में गांव के बाहर छोड़कर दरिंदा फरार हो गया।

ग्रामीणों की नजर बदहवाश किशोरी पर पड़ी तो उन लोगों ने परिजनों को जानकारी दी। परिजन पीड़िता को लेकर थाने पहुंचे और घटना की जानकारी देने के बाद उसे इलाज के लिए भेजने को कहा। परिजनों के आरोप हैं कि पीड़िता थाने में तड़पती रही, लेकिन पुलिस ने उसे कई घंटों तक अस्पताल नही पहुंचाया। फिलहाल निगोहां पुलिस पीड़िता के पिता की तहरीर पर मामले की छानबीन कर रही है।

निगोहां के एक गाँव निवासी महिला ने बताया रात आठ बजे के करीब उसकी 15 वर्षीय बेटी मोहल्ले के एक घर में चार्जिग में लगा अपना मोबाइल लेने गयी थी। वो वहां से लौट रही थी कि पड़ोंसी गांव बखतौरीखेड़ा में रहने वाला नारेन्द्र हाथ में कुल्हाड़ी लेकर वहां पहुंचा और किशोरी को अगवा कर जंगल की तरफ ले गया, जहां उसने बारह घंटे तक उसे बंधक बनाकर दुराचार किया।

महिला के मुताबिक उसकी बेटी ने इसका विरोध किया तो दरिंदे ने उस पर कुल्हाड़ी से वारकर घायल कर दिया। सुबह होने पर वो किशोरी को लहुलूहान हालत में गांव के बाहर सड़क किनारे छोड़कर भाग निकला। निगोहाँ इस्पेक्टंर चैपियन लाल ने बताया किशोरी को मेडिकल के लिये महिला अस्पताल भेजा गया है मेडिकल में दुराचार की पुष्टि होने पर मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की जायेगी।

ऊधर पीड़ित परिवार का कहना है कि वो किशोरी को लेकर सुबह साढ़े दस बजे थाने पहुंचे थे। बेटी को दर्द से कराहते देख उन लोगों ने पुलिस से उसको अस्पताल भेजने की बात कही,लेकिन पुलिस के कान पर जूं तक नही रेंगी। संवेदनहीन पुलिस कई घंटे बाद पीड़ितों को लेकर सीएचसी पहुंची, जहां उसकी हालत नाजुक देख डाक्टरों ने शाम साढ़े चार बजे सिविल अस्पताल रेफर कर दिया।

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के निगोंहा इलाके में पड़ोंसी गांव की युवती को अगवा कर जंगल में ले जाकर दुराचार किया। पी​ड़िता ने विरोध किया तो आरोपी ने उसे कुल्हाड़ी मारकर लहुलूहान कर दिया। करीब बारह घंटे तक उसे बंधक बनाए रखने के बाद लहुलूहान हालत में गांव के बाहर छोड़कर दरिंदा फरार हो गया। ग्रामीणों की नजर बदहवाश किशोरी पर पड़ी तो उन लोगों ने परिजनों को जानकारी दी। परिजन पीड़िता को लेकर थाने पहुंचे और घटना की जानकारी देने…