टीम इंडिया के कोच बने रहेंगे रवि शास्त्री, दौड़ में शामिल थे इतने लोग

ravi sastri
टीम इंडिया के कोच बने रहेंगे रवि शास्त्री, दौड़ में शामिल थे इतने लोग

नई दिल्ली। कपिल देव की अगुवाई वाली क्रिकेट सलाहकार समिति ने शुक्रवार को टीम इंडिया के नए हेड कोच के नाम की घोषणा कर दी। बता दे कि समिति ने वर्तमान कोच के नाम पर ही फिर से मोहर लगाई है। शास्त्री का नया कार्यकाल 2021 टी20 विश्व कप तक रहेगा।

Ravi Shastri Will Continue As Coach Of Team India So Many People Were Involved In The Race :

बता दें कि सीएसी के अध्यक्ष कपिल देव और अन्य सदस्यों, पूर्व कोच अंशुमान गायकवाड तथा शांथा रंगासामी ने शॉर्ट लिस्ट किए गए सभी 6 उम्मीदवारों का बीसीसीआई के मुंबई स्थित हेडक्वार्टर में साक्षात्कार लिया। जिसके बाद ​रवि शास्त्री के नाम पर मोहर लगाई गई। को​च के उम्मीदवारों में रवि शास्त्री के अलावा रॉबिन सिंह, लालचंद राजपूत, माइक हेसन, टॉम मूडी और फिल सिमंस शामिल थे। हालाकि फिल सिमंस इंटरव्यू से पहले ही आवेदन वापस ले लिया।

बताया जा रहा है कि इस पद के लिए बीसीसीआई ने जो पैमाना तय किया था उसके मुताबिक आवेदन करने वाले उम्मीवार को कम से कम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 30 टेस्ट और 50 वनडे मैचों का अनुभव होना जरूरी था। हालाकि माइक हेसन के मामले में इस नियम को दरकिनार किया गया था। उन्होने कभी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला है। जबकि रवि शास्त्री ने भारत के लिए 80 टेस्ट और 150 वनडे खेले हैंं।

नई दिल्ली। कपिल देव की अगुवाई वाली क्रिकेट सलाहकार समिति ने शुक्रवार को टीम इंडिया के नए हेड कोच के नाम की घोषणा कर दी। बता दे कि समिति ने वर्तमान कोच के नाम पर ही फिर से मोहर लगाई है। शास्त्री का नया कार्यकाल 2021 टी20 विश्व कप तक रहेगा। बता दें कि सीएसी के अध्यक्ष कपिल देव और अन्य सदस्यों, पूर्व कोच अंशुमान गायकवाड तथा शांथा रंगासामी ने शॉर्ट लिस्ट किए गए सभी 6 उम्मीदवारों का बीसीसीआई के मुंबई स्थित हेडक्वार्टर में साक्षात्कार लिया। जिसके बाद ​रवि शास्त्री के नाम पर मोहर लगाई गई। को​च के उम्मीदवारों में रवि शास्त्री के अलावा रॉबिन सिंह, लालचंद राजपूत, माइक हेसन, टॉम मूडी और फिल सिमंस शामिल थे। हालाकि फिल सिमंस इंटरव्यू से पहले ही आवेदन वापस ले लिया। बताया जा रहा है कि इस पद के लिए बीसीसीआई ने जो पैमाना तय किया था उसके मुताबिक आवेदन करने वाले उम्मीवार को कम से कम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 30 टेस्ट और 50 वनडे मैचों का अनुभव होना जरूरी था। हालाकि माइक हेसन के मामले में इस नियम को दरकिनार किया गया था। उन्होने कभी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला है। जबकि रवि शास्त्री ने भारत के लिए 80 टेस्ट और 150 वनडे खेले हैंं।