यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री को कोर्ट ने भगोड़ा घोषित किया, NBW जारी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार में परिवार कल्याण मंत्री रविदास मेहरोत्रा को एक क्रिमिनल केस में पिछले कई सालों से गैरहाजिर होने के चलते कोर्ट ने उन्हे भगोड़ा घोषित कर दिया। एसीजेएम ज्ञानेंद्र त्रिपाठी ने रविदास मेहरोत्रा के खिलाफ एक बार फिर से गिरफ्तारी वॉरंट जारी करने का आदेश दिया है। इस मामले की अगली सुनवाई 29 जनवरी को होगी।




ये है मामला—




मामला 9 अगस्त साल 2002 का है। महानगर थाना क्षेत्र में रविदास मेहरोत्रा व अन्य ने अकबर नगर में अवैध निर्माण हटाने के लिए जारी विभागीय नोटिस के विरोध में कुकरैल बंधे के पास रास्ता बंद कर नारेबाजी की। जिससे आम जनता को भारी परेशानी हुई व शांति व्यवस्था प्रभावित हुई। इस मामले में पूर्व विधायक डीपी बोरा भी आरोपित थे।




2 अगस्त 2014 को अदालत ने 200-200 रुपए के अर्थदंड की सजा सुनाई थी। इस मामले की प्राथमिकी थाना प्रभारी महानगर ओमवीर सिंह ने दर्ज कराई थी।

Loading...