RBI ने फिर बदला अपना फैसला, ये है नया नियम

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद से अब तक  सरकार ने पैसे के लेन-देन को लेकर कई बड़े बदलाव किये। बुधवार को एक बार फिर आरबीआई ने बयान जारी करते हुए कहा, 5000 से ज्यादा पुराने 500-1000 के नोट जमा करने पर कस्टमर से बैंक के अधिकारी पूछताछ नही करेंगे। लेकिन ये उन ग्राहकों के लिए है जिनकी KYC (नो योर कस्टमर) प्रोसेस पूरी हो गई है।




गौरतलब है कि इसके पहले आरबीआई ने कहा था कि 5000 की पुरानी करेंसी से ज्यादा जमा करने पर बैंक के अधिकारी आप से पूछताछ कर सकते है। फिर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान कहा कि एक से ज्यादा बार पैसों का ट्रांजेक्शन करने पर अधिकारियों को आप पर शक हो सकता है कि ये पैसे किसी और के तो नही है। इसलिए एक बार में पूरे पैसे जमा करे। इस फैसले को लागू किए 2 दिन ही हुए थे कि फिर से आरबीआई को अपना यह फैसला वापस लेना पड़ा।



Rbi Withdraws Rs 5000 Deposit Restriction For Kyc Account :

21-12-16 से क्या है बैंक में पैसे जमा करने के नए नियम-

RBI के अनुसार KYC कस्टमर्स कितनी भी बार 5000 से ज्यादा पुराने नोट जमा करें उनसे पूछताछ नहीं की जाएगी। इससे पहले अरुण जेटली भी ऐसा ही कह चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद बैंकों में कस्टमर्स से पूछताछ की जा रही थी। जिन कस्टमर्स का KYC नहीं हुआ है, उनके साथ सख्त कंडीशन पहले के आदेशानुसार लागू रहेगी।




नए नोटिफिकेशन में भी KYC नाॅर्म्स पूरे करने की शर्त है क्योंकि सोमवार को सरकार ने कहा था कि पांच हजार से ज्यादा के पुराने नोट 30 दिसंबर तक जमा कराने पर सवाल पूछे जाएंगे। ये भी पूछा जाएगा कि अब तक ये नोट क्यों जमा नहीं कराए गए। इस फैसले से कुछ लोगों की शिकायत थी कि सरकार ने पहले तो कहा कि नोट डिपॉजिट में जल्दबाजी ना करें क्योंकि 30 दिसंबर तक ये काम किया जा सकता है।

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद से अब तक  सरकार ने पैसे के लेन-देन को लेकर कई बड़े बदलाव किये। बुधवार को एक बार फिर आरबीआई ने बयान जारी करते हुए कहा, 5000 से ज्यादा पुराने 500-1000 के नोट जमा करने पर कस्टमर से बैंक के अधिकारी पूछताछ नही करेंगे। लेकिन ये उन ग्राहकों के लिए है जिनकी KYC (नो योर कस्टमर) प्रोसेस पूरी हो गई है। गौरतलब है कि इसके पहले आरबीआई ने कहा था कि 5000 की पुरानी करेंसी से ज्यादा जमा करने पर बैंक के अधिकारी आप से पूछताछ कर सकते है। फिर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान कहा कि एक से ज्यादा बार पैसों का ट्रांजेक्शन करने पर अधिकारियों को आप पर शक हो सकता है कि ये पैसे किसी और के तो नही है। इसलिए एक बार में पूरे पैसे जमा करे। इस फैसले को लागू किए 2 दिन ही हुए थे कि फिर से आरबीआई को अपना यह फैसला वापस लेना पड़ा।

21-12-16 से क्या है बैंक में पैसे जमा करने के नए नियम-

RBI के अनुसार KYC कस्टमर्स कितनी भी बार 5000 से ज्यादा पुराने नोट जमा करें उनसे पूछताछ नहीं की जाएगी। इससे पहले अरुण जेटली भी ऐसा ही कह चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद बैंकों में कस्टमर्स से पूछताछ की जा रही थी। जिन कस्टमर्स का KYC नहीं हुआ है, उनके साथ सख्त कंडीशन पहले के आदेशानुसार लागू रहेगी। नए नोटिफिकेशन में भी KYC नाॅर्म्स पूरे करने की शर्त है क्योंकि सोमवार को सरकार ने कहा था कि पांच हजार से ज्यादा के पुराने नोट 30 दिसंबर तक जमा कराने पर सवाल पूछे जाएंगे। ये भी पूछा जाएगा कि अब तक ये नोट क्यों जमा नहीं कराए गए। इस फैसले से कुछ लोगों की शिकायत थी कि सरकार ने पहले तो कहा कि नोट डिपॉजिट में जल्दबाजी ना करें क्योंकि 30 दिसंबर तक ये काम किया जा सकता है।