बागी हुए संजय निरुपम, कहा- दिल्ली के नेताओं में समझ की कमी, छोड़ दूंगा कांग्रेस

sanjay nirupam
बागी हुए संजय निरुपम, कहा- दिल्ली के नेताओं में समझ की कमी, छोड़ दूंगा कांग्रेस

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को उस वक्त झटका लगा, जब पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष संजय निरुपम ने बगावत कर दी। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपनी पसंद के उम्मीदवारों को टिकट नहीं दिए जाने से नाराज संजय निरुपम ने कांग्रेस आलाकमान पर जमकर हमला बोला।

Rebel Sanjay Nirupam Said Delhi Leaders Lack Understanding Will Leave Congress :

उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठे लोगों में समझ की कमी है। पार्टी ने योग्य लोगों के साथ न्याय नहीं किया। संजय निरुपम टिकट बंटवारे से नाराज हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ जुड़े लोग साजिश रच रहे हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘ऐसा लगता है कि अब कांग्रेस पार्टी मेरी सेवा नहीं चाहती है। मैंने विधानसभा चुनाव के लिए मुंबई में सिर्फ एक सीट मांगी थी, वो भी नहीं दी गई है। हालांकि मैंने कांग्रेस आलाकमान को पहले ही बता दिया था कि ऐसी स्थिति में मैं कांग्रेस पार्टी के लिए चुनाव प्रचार नहीं करूंगा. यह मेरा आखिरी फैसला है।’

कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा, ‘मुझको उम्मीद है कि कांग्रेस पार्टी को गुडबाय कहने का दिन अभी नहीं आया है। हालांकि कांग्रेस आलाकमान मेरे साथ जिस तरह का बर्ताव कर रहा है, उससे नहीं लगता है कि कांग्रेस में ज्यादा दिन तक रहूंगा।’

मुस्लिमों को दरकिनार करने का लगाया आरोप

उन्होंने कांग्रेस के महाराष्ट्र प्रभारी मल्लिकार्जुन खड्गे पर भी जमकर निशाना साधा। निरूपम ने कहा कि खड्गे ने हमारे उम्मीदवारों से बात नहीं की। निरुपम ने कहा कि कांग्रेस का पूरा मॉडल ही दोषयुक्त है। उन्होंने कांग्रेस आलाकमान पर मुस्लिम समाज को दरकिनार करने का आरोप लगाया और इस पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह ठीक नहीं।

आज नामांकन की अंतिम तिथि

गौरतलब है कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन की अंतिम तिथि चार अक्टूबर को है। 21 अक्टूबर को मतदान होना है। ऐेसे मेें पहले ही नेताओं के पलायन से जूझ रही कांग्रेस के लिए निरुपम के बगावती तेवर मुश्किलें बढ़ाने वाले सिद्ध हो सकते हैं।

 

 

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को उस वक्त झटका लगा, जब पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष संजय निरुपम ने बगावत कर दी। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपनी पसंद के उम्मीदवारों को टिकट नहीं दिए जाने से नाराज संजय निरुपम ने कांग्रेस आलाकमान पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठे लोगों में समझ की कमी है। पार्टी ने योग्य लोगों के साथ न्याय नहीं किया। संजय निरुपम टिकट बंटवारे से नाराज हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ जुड़े लोग साजिश रच रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया, 'ऐसा लगता है कि अब कांग्रेस पार्टी मेरी सेवा नहीं चाहती है। मैंने विधानसभा चुनाव के लिए मुंबई में सिर्फ एक सीट मांगी थी, वो भी नहीं दी गई है। हालांकि मैंने कांग्रेस आलाकमान को पहले ही बता दिया था कि ऐसी स्थिति में मैं कांग्रेस पार्टी के लिए चुनाव प्रचार नहीं करूंगा. यह मेरा आखिरी फैसला है।' कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा, 'मुझको उम्मीद है कि कांग्रेस पार्टी को गुडबाय कहने का दिन अभी नहीं आया है। हालांकि कांग्रेस आलाकमान मेरे साथ जिस तरह का बर्ताव कर रहा है, उससे नहीं लगता है कि कांग्रेस में ज्यादा दिन तक रहूंगा।' मुस्लिमों को दरकिनार करने का लगाया आरोप उन्होंने कांग्रेस के महाराष्ट्र प्रभारी मल्लिकार्जुन खड्गे पर भी जमकर निशाना साधा। निरूपम ने कहा कि खड्गे ने हमारे उम्मीदवारों से बात नहीं की। निरुपम ने कहा कि कांग्रेस का पूरा मॉडल ही दोषयुक्त है। उन्होंने कांग्रेस आलाकमान पर मुस्लिम समाज को दरकिनार करने का आरोप लगाया और इस पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह ठीक नहीं। आज नामांकन की अंतिम तिथि गौरतलब है कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन की अंतिम तिथि चार अक्टूबर को है। 21 अक्टूबर को मतदान होना है। ऐेसे मेें पहले ही नेताओं के पलायन से जूझ रही कांग्रेस के लिए निरुपम के बगावती तेवर मुश्किलें बढ़ाने वाले सिद्ध हो सकते हैं।