सरकार ने जारी किया फरमान, Fake News फैलाने वाले पत्रकारों की खत्म होगी मान्यता

Fake News , पत्रकारों की मान्यता
सरकार ने जारी किया फरमान, Fake News फैलाने वाले पत्रकारों की खत्म होगी मान्यता

Recognition Of Journalist Can Be Canceled Forever On Fake News

नई दिल्ली। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की ओर से सोमवार को पत्रकारों की मान्यता के लिए संशोधित गाइडलाइन जारी की गयी। जिसमें ‘फेक न्यूज’ से निपटने के लिए कई नए प्रावधानों को शामिल किया गया है, इसमें अगर कोई पत्रकार फेक न्यूज देता या उसे प्रचारित करता पाया गया तो उसकी मान्यता हमेशा के लिए रद्द हो सकती है। जानिए मान्यता प्राप्त पत्रकारों के लिए संशोधित दिशानिर्देशों में क्या नियम लागू किए गए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक, पहली बार फेक न्यूज के प्रकाशन अथवा प्रसारण की पुष्टि होने पर मान्यता प्राप्त पत्रकार की मान्यता छह माह के लिए निलंबित की जाएगी।

दूसरी बार ऐसा होने पर यह कार्रवाई एक साल के लिए होगी। लेकिन तीसरी गलती पर मान्यता हमेशा के लिए रद्द कर दी जाएगी। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के नए दिशानिर्देशों के मुताबिक, प्रिंट मीडिया से संबंधित फेक न्यूज की शिकायत को प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया (पीसीआई) और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से संबंधित शिकायत को न्यूज ब्राडकास्टर्स एसोसिएशन (एनबीए) को भेजा जाएगा।

ये दोनों संस्थाएं ही तय करेंगी कि जिस खबर के बारे में शिकायत की गई है, वह फेक न्यूज है या नहीं। दोनों को यह जांच 15 दिन में पूरी करनी होगी। एक बार शिकायत दर्ज कर लिए जाने के बाद आरोपी पत्रकार की मान्यता जांच के दौरान भी निलंबित रहेगी।

नई दिल्ली। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की ओर से सोमवार को पत्रकारों की मान्यता के लिए संशोधित गाइडलाइन जारी की गयी। जिसमें 'फेक न्यूज' से निपटने के लिए कई नए प्रावधानों को शामिल किया गया है, इसमें अगर कोई पत्रकार फेक न्यूज देता या उसे प्रचारित करता पाया गया तो उसकी मान्यता हमेशा के लिए रद्द हो सकती है। जानिए मान्यता प्राप्त पत्रकारों के लिए संशोधित दिशानिर्देशों में क्या नियम लागू किए गए हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, पहली बार…