यूपी पुलिस की संवेदनहीनता: नहीं दर्ज हुई रेप की शिकायत, पीड़िता ने खाया जहर

mahoba-police

Recruited By Teenager Abused By Rape

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के महोबा जिले की पुलिस की संवेदनहीनता एक बार फिर उजागर हुई है। यहां एक किशोरी ने दुष्कर्म की प्राथमिकी न दर्ज होने पर जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। पीड़िता को गंभीर हालत में जिले के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस अधीक्षक एन. कोलांची ने घटना को गंभीर बताते हुए मामले की जांच की बात कही है।

पुलिस के मुताबिक, उन्हें एक गांव की 16 साल की किशोरी द्वारा जहर खाकर आत्महत्या की कोशिश करने की सूचना मिली है। अस्पताल में पूछताछ के दौरान किशोरी ने बताया कि पड़ोसी युवक ने घर में घुसकर उसके साथ दुष्कर्म किया, जिसके बाद वह बजरिया चौकी रिपोर्ट दर्ज कराने गई लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की।

उन्होंने बताया कि किशोरी का जिला चिकित्सालय में परीक्षण कराया गया है। किशोरी के पिता की तहरीर पर मुकदमा लिखा जा रहा है। पुलिस अधीक्षक एन. कोलांची ने कहा कि मामला अति गंभीर है, प्राथमिकी न दर्ज करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

पीड़िता के पिता ने बताया, गुरुवार सुबह पूरा परिवार खेती के काम के सिलसिले में घर से बाहर था। इस मौके का फायदा उठाकर पड़ोसी युवक ने बेटी के साथ दुष्कर्म किया, जब बेटी अकेली बजरिया पुलिस चौकी घटना की रिपोर्ट रपट लिखाने गई तो उसे भगा दिया गया। इसी से पीड़ित होकर जहर खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के महोबा जिले की पुलिस की संवेदनहीनता एक बार फिर उजागर हुई है। यहां एक किशोरी ने दुष्कर्म की प्राथमिकी न दर्ज होने पर जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। पीड़िता को गंभीर हालत में जिले के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस अधीक्षक एन. कोलांची ने घटना को गंभीर बताते हुए मामले की जांच की बात कही है। पुलिस के मुताबिक, उन्हें एक गांव की 16 साल की किशोरी द्वारा जहर खाकर…