कैफीन की मात्रा अधिक होने की वजह से कानपुर में रेड बुल हुआ बैन

कानपुर। यूपी के कानपुर में नहीं बिकेगी अब रेड बुल एनर्जी ड्रिंक। इस ड्रिंक में कैफीन की मात्रा अधिक होने की वजह से इसे सेहत के लिए हानिकारक बताया गया है। खाद्य विभाग ने रेड बुल बिक्री पर रोक लगा दिया है। अब अगर कोई भी दुकानदार इसे बेचता पाया गया तो उसे 2 लाख का जुर्माना देना पड़ेगा।


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

खाद्य विभाग के अधिकारी सैय्यद शाहनवाज हैदर आबिदी का कहना है कि रेड बुल पीने के बाद इसमे अधिक मात्रा मे मिली कैफीन जब हमारे शरीर में जाती है तो ब्लडप्रेशर और हार्ट बीट काफी बढ़ जाती है। कैफीन को एक तरह का ड्रग बताया गया है और यह भी कहा गया है कि रेड बुल पीने के 15 मिनट बाद बॉडी मे उत्तेजना बढ़ जाती है। इसका किडनी पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है क्योंकि किडनी बहुत तेज़ी से शुगर को एब्जोर्ब करने लगती है। खबर है कि अब किसी भी खाद्य प्रदार्थ में मिलावट करने पर खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम 2006 के तहत कार्रवाई की जाएगी। जिसमे तीन साल की सजा और पाँच लाख रुपये दंड के प्रावधान में होगा।


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

दो बार जांच मे मिली शिकायत

सैयद शाहनवाज हैदर आबिदी का कहना है कि 2016 में शक होने पर रेड बुल ड्रिंक का सैंपल गया गया था जिसमे जांच के बाद कैफीन की मात्रा अधिक पायी गयी थी। दोबारा से सैंपल को गाजियाबाद में भी टेस्ट कराया गया तब भी कैफीन की मात्रा अधिक थी। दोनों बार जांच में कैफीन की मात्रा को अधिक पाने की वजह से ये ड्रिंक हानिकारक सिद्ध हुयी। इसी कारण कानपुर में इसकी बिक्री पर रोक लगा दी गयी है। साथ ही ये भी आदेश दिये गए है कि जो भी इसकी बिक्री करता है उसपर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

अब तक 1॰5 लाख का माल हो चुका जब्त

शहर में रेड बुल ड्रिंक के अबतक हजारो बोतलों को सील किया जा चुका है। बाज़ारो में इसकी कीमत 1॰5 लाख रुपये से जादा होने की संभावना है। खाद्य विभाग ने रविवार को कई थोक विक्रेताओ के यहा छापा मार चुकी है ।