1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. लाल मूंगा करता है मंगल ग्रह को मजबूत, जानिए किन राशियों को धारण करना चाहिए यह रत्न

लाल मूंगा करता है मंगल ग्रह को मजबूत, जानिए किन राशियों को धारण करना चाहिए यह रत्न

तांबे या सोने की अंगूठी में लाल मूंगा या मूंगा धारण करना शुभ माना जाता है। मूंगा लाकर सोमवार की रात दूध और गंगाजल के मिश्रण में डाल दें। फिर मंगलवार के दिन इसे साफ कर तर्जनी या अनामिका में धारण करें।

By प्रीति कुमारी 
Updated Date

लाल मूंगा रत्न उर्फ ​​मूंगा मंगल ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है। नवरत्नों में इसका विशेष महत्व है। जबकि लाल मूंगा पत्थर अत्यधिक लोकप्रिय है, यह सिंदूर, गुलाबी, सफेद, नीले और काले रंग में भी उपलब्ध है। ज्योतिषियों के अनुसार मूंगा धारण करने से मंगल ग्रह बलवान होता है। इस रत्न को धारण करने से व्यक्ति को अपार ऊर्जा मिलती है। यदि कोई व्यक्ति मूंगा धारण करता है, तो सभी प्रकार के दुर्भाग्य, विपत्तियों और दुर्घटनाओं आदि से बचा जा सकता है। जानिए किन लोगों या राशियों को मूंगा धारण करना चाहिए।

पढ़ें :- Shardiya navratri 2022 : नवरात्रि की प्रतिपदा तिथि को इन मुहूर्त में न करें कलश स्थापना, पूरे दिन रहेगा आडल योग

मेष राशि
मंगल अष्टम भाव का स्वामी लग्नेश और अष्टमेश है। लग्नेश को शुभ और अष्टमेश को अशुभ माना जाता है। अष्टम भाव का संबंध आयु और मृत्यु से होता है, इसलिए मेष राशि के लोग किसी ज्योतिषी से सलाह लेकर मूंगा धारण कर सकते हैं।

कर्क राशि
मंगल पंचम और दशम भाव का स्वामी है। ये दोनों स्थान शुभ हैं। पंचम भाव शिक्षा, संतान, गुरु, विवेक, रोमांस और निर्णय लेने की क्षमता से संबंधित है, जबकि दशम भाव पिता और करियर से संबंधित है। इसलिए कर्क राशि के जातक मूंगा धारण कर सकते हैं।

सिंह राशि
मंगल चतुर्थ और नवम भाव का स्वामी है। ये दोनों स्थान शुभ हैं। चतुर्थ भाव माता, भूमि, भवन, वाहन और सुख से संबंधित है जबकि नवम भाव भाग्य से संबंधित है। इसलिए सिंह राशि वालों के लिए मूंगा पहनना फायदेमंद रहेगा। मूंगा धारण करने से आपके भाग्य पर बहुत प्रभाव पड़ेगा।

वृश्चिक
वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल है। यह स्थान बहुत ही शुभ होता है, लेकिन साथ ही मंगल छठे भाव का स्वामी भी होता है जो कि अशुभ होता है। तो आप कुछ सावधानियों के साथ मूंगा धारण कर सकते हैं।

पढ़ें :- आज का राशिफल : गुरुवार को कैसी रहेगी आपकी किस्मत , पढ़ें राशिफल

धनुराशि
मंगल बारहवें और पांचवें भाव का स्वामी है। बारहवें भाव को व्यय का स्थान यानि बढ़ते हुए खर्च का स्थान कहा जाता है। यदि आप मूंगा धारण करते हैं तो आपके खर्चे और अधिक बढ़ेंगे। लेकिन पंचम भाव को अत्यंत शुभ माना जाता है। पंचम भाव संतान, शिक्षा, गुरु, रोमांस और विवेक आदि से संबंधित है इसलिए इस लग्न के लोग अच्छे परिणाम के लिए मूंगा धारण कर सकते हैं।

मकर राशि
मंगल एकादश और चतुर्थ भाव का स्वामी है। चतुर्थ भाव का संबंध माता, भूमि, भवन, वाहन और सुख से है। इसलिए मकर राशि के लोग भी मूंगा धारण कर सकते हैं।

मूंगा कैसे पहनें?
तांबे या सोने की अंगूठी में लाल मूंगा या मूंगा धारण करना शुभ माना जाता है। मूंगा लाकर सोमवार की रात दूध और गंगाजल के मिश्रण में डाल दें। फिर मंगलवार के दिन इसे साफ कर तर्जनी या अनामिका में धारण करें।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...