सुरक्षा कारणों के चलते लाल किला 15 अगस्त तक पर्यटकों के लिए बंद

unnamed

नई दिल्ली । स्वतंत्रता दिवस की तैयारियों और सुरक्षा कारणों से लाल किला को आम लोगों के लिए 15 अगस्त तक बंद कर दिया गया है। इस दौरान लालकिला में पर्यटकों के प्रवेश पर रोक रहेगी। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री लाल किले में झंडा फहराने के लिए पहुंचते है। जिसके चलते हर बार लालकिला को इस मौके पर बंद किया जाता है। लाल किला में अब पर्यटकों को 16 अगस्त से प्रवेश दिया जाएगा। स्वतंत्रता समारोह को लेकर लाल किला परिसर में जोर-शोर से तैयारियां चल रही है। लेकिन कोरोना के चलते इस बार पिछले वर्षों की तुलना में इसका अंदाज कुछ बदला-बदला है।

Red Fort Closed To Tourists Till 15 August Due To Security Reasons :

इस बार समारोह में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना है, लिहाजा कुर्सियों को दो गज की दूरी पर लगाया गया है। इतना ही नहीं, इस दूरी के चलते यहां की क्षमता पर भी असर पड़ेगा। लिहाजा समारोह मे बुलाए जाने वाले स्कूली बच्चों के अलावा वीआईपी लोगों की संख्या भी करीब एक चौथाई कर दी गई है। पहले कार्यक्रम में करीब 10 हजार स्कूली बच्चे आते थे, इस बार ये नहीं आएंगे। इनकी जगह इस बार 500 एनसीसी कैडेट्स को बुलाया गया है।पहले कार्यक्रम में 25 हजार अतिथि शामिल होते थे। इस बार पांच हजार के करीब ही मेहमान उपस्थित हो पाएंगे।

पहले वीआईपी अतिथि को कार्यक्रम का न्योता दिया जाता था, इस बार कोरोना वॉरियर्स को भी आमंत्रित किया गया है। कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग नियम को सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही दिल्ली समेत सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में विभिन्न स्तर पर स्वतंत्रता दिवस समारोहों के लिए निश्चित दिशा-निर्देश तय किए गए हैं। इसके तहत कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए लोगों की संख्या को उतना ही रखने को कहा गया, जिससे इसका असर नियम पर न पड़े।

नई दिल्ली । स्वतंत्रता दिवस की तैयारियों और सुरक्षा कारणों से लाल किला को आम लोगों के लिए 15 अगस्त तक बंद कर दिया गया है। इस दौरान लालकिला में पर्यटकों के प्रवेश पर रोक रहेगी। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री लाल किले में झंडा फहराने के लिए पहुंचते है। जिसके चलते हर बार लालकिला को इस मौके पर बंद किया जाता है। लाल किला में अब पर्यटकों को 16 अगस्त से प्रवेश दिया जाएगा। स्वतंत्रता समारोह को लेकर लाल किला परिसर में जोर-शोर से तैयारियां चल रही है। लेकिन कोरोना के चलते इस बार पिछले वर्षों की तुलना में इसका अंदाज कुछ बदला-बदला है। इस बार समारोह में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना है, लिहाजा कुर्सियों को दो गज की दूरी पर लगाया गया है। इतना ही नहीं, इस दूरी के चलते यहां की क्षमता पर भी असर पड़ेगा। लिहाजा समारोह मे बुलाए जाने वाले स्कूली बच्चों के अलावा वीआईपी लोगों की संख्या भी करीब एक चौथाई कर दी गई है। पहले कार्यक्रम में करीब 10 हजार स्कूली बच्चे आते थे, इस बार ये नहीं आएंगे। इनकी जगह इस बार 500 एनसीसी कैडेट्स को बुलाया गया है।पहले कार्यक्रम में 25 हजार अतिथि शामिल होते थे। इस बार पांच हजार के करीब ही मेहमान उपस्थित हो पाएंगे। पहले वीआईपी अतिथि को कार्यक्रम का न्योता दिया जाता था, इस बार कोरोना वॉरियर्स को भी आमंत्रित किया गया है। कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग नियम को सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही दिल्ली समेत सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में विभिन्न स्तर पर स्वतंत्रता दिवस समारोहों के लिए निश्चित दिशा-निर्देश तय किए गए हैं। इसके तहत कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए लोगों की संख्या को उतना ही रखने को कहा गया, जिससे इसका असर नियम पर न पड़े।