1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. बाहुबली पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी को सुप्रीम कोर्ट से राहत, HC की 7 साल की सजा पर लगाई रोक

बाहुबली पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी को सुप्रीम कोर्ट से राहत, HC की 7 साल की सजा पर लगाई रोक

बाहुबली पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने मुख्तार अंसारी की सजा पर रोक लगा दी है। मुख्तार अंसारी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा उसे दोषी ठहराने व सात साल की सजा सुनाने के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। बाहुबली पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने मुख्तार अंसारी की सजा पर रोक लगा दी है। मुख्तार अंसारी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा उसे दोषी ठहराने व सात साल की सजा सुनाने के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

पढ़ें :- बीजेपी सरकार से हट जाए, तीन महीने में जातीय जनगणना करके दिखाएं समाजवादी लोग : अखिलेश यादव

हाईकोर्ट ने सुनाई थी सात साल की सजा
बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पर 2003 में एक जेलर को धमकाने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगा था। निचली अदालत ने मुख्तार को बरी कर दिया था। हालांकि, हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को पलटते हुए सात साल की सजा सुनाई थी। इसको लेकर मुख्तार अंसारी सुप्रीम कोर्ट पहुंचा था। इस मामले में शीर्ष अदालत ने सजा पर रोक लगाते हुए मामले में उत्तर प्रदेश सरकार से जवाब तलब किया है।

2003 का है ये मामला
यह मामला 2003 का है। तब लखनऊ के जिला जेलर एसके अवस्थी ने आलमबाग थाने में एफआईआर दर्ज करा कर आरोप लगाया था कि अंसारी ने उन्हें धमकी थी। जेलर ने अपनी शिकायत में कहा था कि उन्होंने जेल में बंद अंसारी से मिलने आए लोगों की तलाशी लेने का निर्देश दिया था, इस पर उन्हें धमकी दी गई थी। अवस्थी ने यह भी आरोप लगाया था कि अंसारी ने उन पर पिस्तौल तान दी और उनके साथ दुर्व्यवहार किया था।

 

 

पढ़ें :- सपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की संशोधित सूची जारी की,सवर्णों को भी मिली जगह

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...