जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाना सरकार का एक साहसिक कदम : मोहन भागवत

mohan bhagwat rss
जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाना सरकार का एक साहसिक कदम : मोहन भागवत

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने के लिए पेश किए गए प्रस्तावना पर जहां कुछ राजनैतिक पार्टियां विरोध कर रही हैं, वहीं आरएसएस ने सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। उन्होने जम्मू—कश्मीर को दो हिस्से में बांटने के फैसले को एक साहसिक कदम बताया।

Removing Section 370 From Jammu And Kashmir Is A Bold Move Of The Government Says Mohan Bhagwat :

मोहन भागवत ने कहा- “हम सरकार के साहसिक कदम का स्वागत करते हैं। यह पूरे देश के साथ ही जम्मू कश्मीर के हित के लिए आवश्यक था। खुद के फायदे और राजनीतिक मतभेद से उठकर सभी को इस कदम का स्वागत और समर्थन करना चाहिए।”

बता दें कि अनुच्छेद 370 को हटाने के लिये गृहमंत्री अमित शाह द्वारा राज्यसभा में प्रस्ताव पेश किये जाने के बाद इस पर प्रतिक्रिया देते हुए राज्य भाजपा अध्यक्ष रवींद्र रैना ने कहा कि अपनी जाति, पंथ और धर्म की परवाह किये बगैर जम्मू कश्मीर के लोग प्रधानमंत्री के साथ हैं।

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने के लिए पेश किए गए प्रस्तावना पर जहां कुछ राजनैतिक पार्टियां विरोध कर रही हैं, वहीं आरएसएस ने सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। उन्होने जम्मू—कश्मीर को दो हिस्से में बांटने के फैसले को एक साहसिक कदम बताया। मोहन भागवत ने कहा- “हम सरकार के साहसिक कदम का स्वागत करते हैं। यह पूरे देश के साथ ही जम्मू कश्मीर के हित के लिए आवश्यक था। खुद के फायदे और राजनीतिक मतभेद से उठकर सभी को इस कदम का स्वागत और समर्थन करना चाहिए।” बता दें कि अनुच्छेद 370 को हटाने के लिये गृहमंत्री अमित शाह द्वारा राज्यसभा में प्रस्ताव पेश किये जाने के बाद इस पर प्रतिक्रिया देते हुए राज्य भाजपा अध्यक्ष रवींद्र रैना ने कहा कि अपनी जाति, पंथ और धर्म की परवाह किये बगैर जम्मू कश्मीर के लोग प्रधानमंत्री के साथ हैं।