1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. क्वाड देशों के प्रतिनिधि इस साल के अंत तक एक साथ आ सकते हैं नजर

क्वाड देशों के प्रतिनिधि इस साल के अंत तक एक साथ आ सकते हैं नजर

चीन की बढ़ती ताकत का सामना करने के लिए और उस पर दबाव बनाने के लिए चार देशों ने मिलकर एक संगठन बनाया है। जिसका नाम रखा गया है क्वाड। क्वाड में शामिल चार देश भारत,अमेरिका,जापान और आस्ट्रेलिया है। इन देशों के प्रतिनिधियों के बीच अभी तक डिजीटल बैठकें हुई हैं। लेकिन ये प्रतिनिधि इस साल के अंत तक एक दूसरे से फिजकल तौर पर मिलेंगे।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Representatives Of Quad Countries May Come Together By The End Of This Year

वाशिंगटन। चीन की बढ़ती ताकत का सामना करने के लिए और उस पर दबाव बनाने के लिए चार देशों ने मिलकर एक संगठन बनाया है। जिसका नाम रखा गया है क्वाड। क्वाड में शामिल चार देश भारत,अमेरिका,जापान और आस्ट्रेलिया हैं। इन देशों के प्रतिनिधियों के बीच अभी तक डिजीटल बैठकें हुई हैं। लेकिन ये प्रतिनिधि इस साल के अंत तक एक दूसरे से फिजकल तौर पर मिलेंगे। इस बात की पुष्टि अमेरिका ने कर दी है।

पढ़ें :- वैश्विक स्वास्थ्य संकट: कोरोना वैक्सीन पर हटेगी पेटेंट सुरक्षा, भारत के प्रस्ताव का अमेरिका ने किया समर्थन

‘क्वाड’ के डिजिटल तरीके से आयोजित शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने शिरकत की हैं। क्वाड के नेताओं ने दक्षिण और पूर्वी चीन सागर में नौवहन की आजादी, उत्तरी कोरिया से जुड़े परमाणु मुद्दे, म्यांमा में तख्तापलट और प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्रवाई समेत महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की।

इस दौरान ‘चारों नेताओं ने चीन द्वारा पेश चुनौतियों पर भी चर्चा की और स्पष्ट कर दिया कि चीन के बारे में उन्हें कोई भ्रम नहीं है लेकिन आज मुख्य रूप से चीन पर चर्चा नहीं हुई।’ उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि जलवायु परिवर्तन और कोविड-19 पर प्रमुखता से बात हुई।

 

पढ़ें :- कोविड-19 से जंग में भारत के साथ कंधा से कंधा मिलाकर खड़ा है अमेरिका : जो बिडेन

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X