राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित रिटायर्ड शिक्षक की हत्या, बहु ने कबूल किया अपराध

Murder, हत्या
राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित रिटायर्ड शिक्षक की हत्या, बहु ने कबूल किया अपराध

अंबेडकर नगर। उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर जिले में एक लालची बहु ने अपने ससुर को उसकी पेंशन और संपत्ति पाने के लिए मौत के घाट उतार दिया। मृतक कोई और नहीं राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित शिक्षक रामकुमार मौर्य थे, ​जिन्होंने अपना पूरा जीवन कई पीढ़ियों का भविष्य बनाने में लगा दिया। शिक्षा के प्रति उनकी लगन और समर्पण को देखते हुए ही प्रदेश सरकार की सिफारिश पर उन्हें राष्ट्रपति सम्मान मिला था।

Retired Teacher Murdered By Daughter In Law In Ambedkarnagar :

मिली जानकारी के मुताबिक अंबेडकरनगर के जैतपुर पुलिस क्षेत्र के नोनहरा गांव निवासी रामकुमार मौर्य (66) सोमवार की शाम अपने कमरे में टीवी देख रहे थे। तभी उनके बेटे पुरुषोत्तम की पत्नी सुमन वह पहुंची और ससुर से संपत्ति और पेंशन में आधा हिस्सा मांगने लगी। रामकुमार ने ऐसा करने से इंकार करते हुए कहा कि जब मेरी मौत हो जाए तो सबकुछ तुम लोग ले लेना।

अपने ससुर की बात सुनकर सुमन आग बबूला हो गई और हाथ में लिए गड़ासे से ससुर के ऊपर ताबड़तोड़ कई हमले कर दिए | रामकुमार गंभीर रूप से घायल होकर चिल्लाने लगे तो घर में मौजूद अन्य लोग वहां पहुंचे और दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया, लेकिन महिला ने दरवाजा नहीं खोला। कुछ देर बाद सुमन खून से सना गड़ासा लेकर बहार निकली और स्वयं ही पुलिस को कॉल कर घटना की सूचना दी। जैतपुर पुलिस आनन फानन में घटनास्थल तक पहुंची और घायल रामकुमार को अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

पुलिस के मुताबिक डाक्टरी परीक्षण में सामने आया है कि रामकुमार के शरीर पर एक के बाद एक 17 वार किये गई थे। इस घटना में मृतक के परिजनों की तहरीर पर हत्या का केस दर्जकर, अपना अपराध स्वीकार कर चुकी सुमन को गिरफ्तार कर लिया गया है। हत्या में प्रयुक्त हथियार के रूप में प्रयोग किए गड़ासे को बरामद किया जा चुका है।

अंबेडकर नगर। उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर जिले में एक लालची बहु ने अपने ससुर को उसकी पेंशन और संपत्ति पाने के लिए मौत के घाट उतार दिया। मृतक कोई और नहीं राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित शिक्षक रामकुमार मौर्य थे, ​जिन्होंने अपना पूरा जीवन कई पीढ़ियों का भविष्य बनाने में लगा दिया। शिक्षा के प्रति उनकी लगन और समर्पण को देखते हुए ही प्रदेश सरकार की सिफारिश पर उन्हें राष्ट्रपति सम्मान मिला था।मिली जानकारी के मुताबिक अंबेडकरनगर के जैतपुर पुलिस क्षेत्र के नोनहरा गांव निवासी रामकुमार मौर्य (66) सोमवार की शाम अपने कमरे में टीवी देख रहे थे। तभी उनके बेटे पुरुषोत्तम की पत्नी सुमन वह पहुंची और ससुर से संपत्ति और पेंशन में आधा हिस्सा मांगने लगी। रामकुमार ने ऐसा करने से इंकार करते हुए कहा कि जब मेरी मौत हो जाए तो सबकुछ तुम लोग ले लेना।अपने ससुर की बात सुनकर सुमन आग बबूला हो गई और हाथ में लिए गड़ासे से ससुर के ऊपर ताबड़तोड़ कई हमले कर दिए | रामकुमार गंभीर रूप से घायल होकर चिल्लाने लगे तो घर में मौजूद अन्य लोग वहां पहुंचे और दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया, लेकिन महिला ने दरवाजा नहीं खोला। कुछ देर बाद सुमन खून से सना गड़ासा लेकर बहार निकली और स्वयं ही पुलिस को कॉल कर घटना की सूचना दी। जैतपुर पुलिस आनन फानन में घटनास्थल तक पहुंची और घायल रामकुमार को अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।पुलिस के मुताबिक डाक्टरी परीक्षण में सामने आया है कि रामकुमार के शरीर पर एक के बाद एक 17 वार किये गई थे। इस घटना में मृतक के परिजनों की तहरीर पर हत्या का केस दर्जकर, अपना अपराध स्वीकार कर चुकी सुमन को गिरफ्तार कर लिया गया है। हत्या में प्रयुक्त हथियार के रूप में प्रयोग किए गड़ासे को बरामद किया जा चुका है।