1. हिन्दी समाचार
  2. ऋषिकेश का 96 साल पुराना ‘लक्ष्मण झूला’ पर्यटकों के लिए हुआ बंद

ऋषिकेश का 96 साल पुराना ‘लक्ष्मण झूला’ पर्यटकों के लिए हुआ बंद

Rishikesh Laxman Jhula Bridge Closed For Safety Reason

By रवि तिवारी 
Updated Date

उत्तराखंड। ब्रिटिश काल में गंगा नदी के ऊपर निर्मित करीब 450 फिट लंबे और 5 फिट चौड़े स्पॉन वाले लक्ष्मणझूला पुल पर शासन ने शुक्रवार से आवाजाही पर रोक लगा दी है। दरअसल, लक्ष्मण झूला पुल काफी जीर्णशीर्ण अवस्था में होने से खतरनाक माना जा रहा था और यह एक ओर झुका हुआ प्रतीत हो रहा है। पुल के ज्यादातार हिस्से काफी कमजोर’ हो गए हैं या गिरने की स्थिति में हो गए हैं। हालांकि यह भी बताया जा रहा है कि सुधार के बाद इसे फिर से खोला जा सकता है।

पढ़ें :- डुकाटी डियावेल ने लॉन्च की दमदार फीचर्स वाली बाइक, फीचर्स बना रहे दीवाना

विभाग के अधिकारियों के अनुसार इस वर्ष 20 जनवरी को डिजाइन टैक स्ट्रक्चरल कंसलटेंट की दी गई रिपोर्ट के मद्देनजर जनहानि एवं दुर्घटना न हो इस बात को ध्यान में रखते हुए लक्ष्मण झूला सेतु को शुक्रवार 12 जुलाई 2019 से आवागमन हेतु बंद कर दिया गया है। लक्ष्मण झूला पुल ब्रिटिश शासनकाल में निर्मित हुआ था। अब लक्ष्मण झूला पुल की मियाद खत्म हो चुकी है, लिहाजा इस पर बड़ी संख्या में लोगों की आवाजाही अब खतरे से खाली नहीं है।

आवाजाही के लिए 1930 में खोला गया था पुल- आगामी दिनों में 17 जुलाई से कांवड़ मेला शुरू होने के चलते यहां भारी संख्या में कांवड़ियों के आने की भी संभावना के कारण खतरा बढ़ रहा था। लक्ष्मण झूला पुल का निर्माण 1929 में हुआ था, जिसे आवाजाही के लिए 1930 में खोला गया था। करीब 90 साल पुराने इस पुल समेत 1986 में बने रामझूला पुल का भी पीडब्ल्यूडी के डिजाइनर पीके चमोली से कुछ दिन पहले तकनीकी सर्वे कराया गया था।

राम झूला पुल पाया गया सुरक्षित- इसमें लक्ष्मण झूला पुल की लोडिंग क्षमता और आयु आदि की जांच रिपोर्ट के मुताबिक 89 साल पहले के डिजाइन और क्षमता के हिसाब से पुल आज इस स्थिति में नहीं है कि इस पर अब बड़ी संख्या में लोग आवाजाही कर सकें। रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि दूसरे राम झूला पुल को अभी आवागमन के लिए सुरक्षित पाया गया है। इससे आवाजाही की जा सकती है। इस पुल को बने हुए अभी 33 साल हुए हैं।

पढ़ें :- सुशांत सिंह ड्रग्स केस: अब NCB पर लगे बड़े आरोप, सुशांत के करीबी ने मांगा 10 लाख का कपंनसेशन

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...