1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश से ​नदियां उफान पर, गंगा का जलस्तर बढ़ा और डूबे कई घाट

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश से ​नदियां उफान पर, गंगा का जलस्तर बढ़ा और डूबे कई घाट

देश के कई हिस्सों में मानसून की शुरूआत होते ही खौफ बढ़ता जा रहा है। उत्तराखंड में मानसून की शुरुआत होते ही नदियां उफान पर हैं। बरसाती नालों में भी पानी बढ़ गया है। इसके साथ ही ऋषिकेश और हरिद्वार में गंगा का जलस्तर बढ़ गया है। लिहाजा, अलर्ट जारी किया गया है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। देश के कई हिस्सों में मानसून की शुरूआत होते ही खौफ बढ़ता जा रहा है। उत्तराखंड में मानसून की शुरुआत होते ही नदियां उफान पर हैं। बरसाती नालों में भी पानी बढ़ गया है। इसके साथ ही ऋषिकेश और हरिद्वार में गंगा का जलस्तर बढ़ गया है। लिहाजा, अलर्ट जारी किया गया है।

पढ़ें :- अब दिल्ली में भी कांवड़ यात्रा बैन, कोरोना के चलते लिया फैसला

गंगा, गोरी, शारदा, अलकनंदा, मंदाकिनी और नंदाकिनी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। ऋषिकेश में लगातार बारिश जारी है। गंगा का जलस्तर 340.34 आरएल मीटर पर पहुंच गया है। गंगा खतरे के निशान से 18 सेंटीमीटर नीचे बह रही है। परमार्थ निकेतन स्वर्गाश्रम, त्रिवेणी और लक्ष्मण झूला के लगभग सभी गंगा घाट डूब गए हैं।

मायाकुण्ड, चंद्रेश्वर नगर में पानी भर गया है। तपोवन नगर और मुनिकीरेती में आश्रमों और होटलों को अलर्ट जारी किया गया है। टिहरी, पौड़ी और ऋषिकेश प्रशासन लगातार मुनादी करवा रहा है। रायवाला के गौहरी माफी, प्रतीतनगर व श्यामपुर के खदरी माफी में लोगों से सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कहा जा रहा है।

 

पढ़ें :- उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला: कोरोना संकट के चलते स्थगित हुई कांवड़ यात्रा
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...