लॉकडाउन: यहां बही दूध की नदियां, ‘गो कोरोना गो’ के नारे लगाते हुए नहर में बहाया 1500 लीटर दूध

60133

चिक्कोडी: कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए पूरे देश को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन किया गया है। इस लॉकडाउन का सीधा असर व्यापर पर पड़ता नजर आ रहा है। दुकाने बन्दे होने के चलते कई जगहों पर लोगों को आवश्यक वस्तुएं या तो मिल नहीं पा रही हैं या उन्हें इसके लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस बीच उत्तर कर्नाटक का एक वीडियो सामने आया है जिसमें लोग दूध का वितरण ना हो पाने के कारण उसे नहर में बहा रहे हैं।

Rivers Of Milk Here 1500 Liters Of Milk Shed In The Canal Chanting Go Corona Go :

खबर के मुताबिक यहां नहर में दूध इसलिए बहा रहा है क्योंकि लॉकडाउन के दौरान डेयरी भी 32 रुपये प्रति लीटर की जगह 15 रुपये प्रति लीटर दूध खरीद रही हैं। बताया गया कि उत्तर कर्नाटक के चिक्कोडी में 1500 लीटर दूध नहर में बहा दिया गया। दूध बहाते हुए लोगों ने ‘गो कोरोना गो’ के नारे भी लगाए।

जानकारी के लिए बता दें कि राज्य की दुग्ध इकाई KMF ने भी दुग्ध उत्पादकों से दूध खरीदने से मना कर दिया है जिसके चलते उनके सामने यह संकट आ गया है। इलाके में होटल और रेस्तरां बंद होने की वजह से भी दूध की सप्लाई नहीं हो पा रही है। दूध की खरीद में गिरावट आई है क्योंकि दूसरे राज्यों को ढाई लाख लीटर दूध की आपूर्ति ठप है।

चिक्कोडी: कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए पूरे देश को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन किया गया है। इस लॉकडाउन का सीधा असर व्यापर पर पड़ता नजर आ रहा है। दुकाने बन्दे होने के चलते कई जगहों पर लोगों को आवश्यक वस्तुएं या तो मिल नहीं पा रही हैं या उन्हें इसके लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस बीच उत्तर कर्नाटक का एक वीडियो सामने आया है जिसमें लोग दूध का वितरण ना हो पाने के कारण उसे नहर में बहा रहे हैं। खबर के मुताबिक यहां नहर में दूध इसलिए बहा रहा है क्योंकि लॉकडाउन के दौरान डेयरी भी 32 रुपये प्रति लीटर की जगह 15 रुपये प्रति लीटर दूध खरीद रही हैं। बताया गया कि उत्तर कर्नाटक के चिक्कोडी में 1500 लीटर दूध नहर में बहा दिया गया। दूध बहाते हुए लोगों ने 'गो कोरोना गो' के नारे भी लगाए। जानकारी के लिए बता दें कि राज्य की दुग्ध इकाई KMF ने भी दुग्ध उत्पादकों से दूध खरीदने से मना कर दिया है जिसके चलते उनके सामने यह संकट आ गया है। इलाके में होटल और रेस्तरां बंद होने की वजह से भी दूध की सप्लाई नहीं हो पा रही है। दूध की खरीद में गिरावट आई है क्योंकि दूसरे राज्यों को ढाई लाख लीटर दूध की आपूर्ति ठप है।