तेजस्वी यादव ने मायातवी से लिया आशीर्वाद, अब अखिलेश से करेंगे मुलाकात

tejashwi yadav mayawati
तेजस्वी यादव ने मायातवी से लिया आशीर्वाद, अब अखिलेश से करेंगे मुलाकात

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में बीएसपी और समाजवादी पार्टी के गठबंधन के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी यादव लखनऊ पहुंचे हैं। सोमवार सुबह उन्होने मायाावती से मुलाकात की और उनके पैर छूकर ‘आशीर्वाद’ लिया। इस दौरान उन्होने सपा-बसपा गठबंधन पर अपनी खुशी जताते हुए कहा कि यूपी में बीजेपी अब एक भी सीट नहीं जीत पाएगी। इसके बाद तेजस्वी आज सपा प्रमुख अखिलेश यादव से लंच पर मुलाकात करेंगे।

Rjd Leader Tejaswi Yadav Meet Mayawati And Akhilesh Yadav At Lucknow :

बसपा सुप्रीमों मायावती से मुलाकात के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी ने कहा कि अब यूपी और बिहार से बीजेपी का सफाया होगा। उन्होने कहा कि मायावती से हमें मार्गदर्शन मिले, हम यही चाहते हैं। उन्होने कहा कि आज ऐसा माहौल है जहां वे बाबा साहेब के संविधान को मिटाना चाहते हैं और ‘नागपुर के कानूनों’ को लागू करना चाहते हैं। जिसके चलते वे यूपी में 1 सीट भी नहीं जीत पाएंगे, सभी सीटें सपा-बसपा गठबंधन को मिलेंगी।’

बता दें तेजस्वी यादव ने इस मुलाकात से पहले मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि वो मायावती और अखिलेश यादव से एक शिष्टाचार मुलाकात करने आये हैं। हम सबसे छोटे है, इसलिए सबका आशीर्वाद लेने आए है। उन्होंने कहा कि लालू जी ने यही कल्पना की थी कि उत्तर प्रदेश में भी महागठबंधन हो, मायावती और अखिलेश यादव मिलकर चुनाव लड़े। तेजस्वी ने कहा था कि जिस तरह से देश मे अघोषित इमरजेंसी लगाई गई है, संविधान से छेड़छाड़ की जा रही है आरक्षण को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है। संवैधानिक संस्थाओं पर तानाशाही की जा रही है।

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में बीएसपी और समाजवादी पार्टी के गठबंधन के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी यादव लखनऊ पहुंचे हैं। सोमवार सुबह उन्होने मायाावती से मुलाकात की और उनके पैर छूकर 'आशीर्वाद' लिया। इस दौरान उन्होने सपा-बसपा गठबंधन पर अपनी खुशी जताते हुए कहा कि यूपी में बीजेपी अब एक भी सीट नहीं जीत पाएगी। इसके बाद तेजस्वी आज सपा प्रमुख अखिलेश यादव से लंच पर मुलाकात करेंगे। बसपा सुप्रीमों मायावती से मुलाकात के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी ने कहा कि अब यूपी और बिहार से बीजेपी का सफाया होगा। उन्होने कहा कि मायावती से हमें मार्गदर्शन मिले, हम यही चाहते हैं। उन्होने कहा कि आज ऐसा माहौल है जहां वे बाबा साहेब के संविधान को मिटाना चाहते हैं और 'नागपुर के कानूनों' को लागू करना चाहते हैं। जिसके चलते वे यूपी में 1 सीट भी नहीं जीत पाएंगे, सभी सीटें सपा-बसपा गठबंधन को मिलेंगी।' बता दें तेजस्वी यादव ने इस मुलाकात से पहले मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि वो मायावती और अखिलेश यादव से एक शिष्टाचार मुलाकात करने आये हैं। हम सबसे छोटे है, इसलिए सबका आशीर्वाद लेने आए है। उन्होंने कहा कि लालू जी ने यही कल्पना की थी कि उत्तर प्रदेश में भी महागठबंधन हो, मायावती और अखिलेश यादव मिलकर चुनाव लड़े। तेजस्वी ने कहा था कि जिस तरह से देश मे अघोषित इमरजेंसी लगाई गई है, संविधान से छेड़छाड़ की जा रही है आरक्षण को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है। संवैधानिक संस्थाओं पर तानाशाही की जा रही है।