राजद ने प्रशांत किशोर को दिया साथ आने का ऑफर, तेज प्रताप ने कही ये बात

pk
राजद ने प्रशांत किशोर को दिया साथ आने का ऑफर, तेज प्रताप ने कही ये बात

नई दिल्ली। आरजेडी मुखिया लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने गुरुवार को अपने आवास पर मां सरस्वती की पूजा करने के बाद कहा कि अगर प्रशांत किशोर अगर चाहें तो आरजेडी में शामिल हो सकते हैं। इस मौके पर तेजप्रताप ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर करारा हमला बोला। राजद नेता तेज प्रताप ने कहा कि नीतीश कुमार का जब तक मन हुआ प्रशांत किशोर का इस्तेमाल किया, अब पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। बिहार की जनता नीतीश कुमार को आने वाले चुनाव में सबक सिखाने की काम करेगी।

Rjd Offers Prashant Kishore To Come Together Tej Pratap Said This :

तेज प्रताप ने प्रशांत किशोर को लेकर कहा कि पीके का राजद में स्वागत है। उनके लिए हमारी पार्टी के दरवाजे खुले हुए हैं। इससे पहले प्रशांत किशोर ने कहा था कि वह 11 फरवरी के बाद अपने भविष्य में उठाने वाले कदम के बारे में जानकारी देंगे। उन्होंने कहा कि तब तक वे इस बारे में किसी से बात नहीं करेंगे।

जेडीयू ने बुधवार को अपने असंतुष्ट नेताओं प्रशांत किशोर एवं महासचिव पवन वर्मा को पार्टी से निष्कासित कर दिया था। दोनों नेताओं के सीएए समेत मोदी सरकार के अन्य फैसलों को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री तथा जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार से पिछले कुछ दिनों से मतभेद सामने आ रहे थे। जेडीयू ने पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को बाहर का रास्ता दिखाते हुए उन पर नीतीश कुमार के खिलाफ ‘अपमानजनक शब्दों के इस्तेमाल का तथा पार्टी अनुशासन का पालन न करने समेत गंभीर आरोप लगाए थे।

नई दिल्ली। आरजेडी मुखिया लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने गुरुवार को अपने आवास पर मां सरस्वती की पूजा करने के बाद कहा कि अगर प्रशांत किशोर अगर चाहें तो आरजेडी में शामिल हो सकते हैं। इस मौके पर तेजप्रताप ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर करारा हमला बोला। राजद नेता तेज प्रताप ने कहा कि नीतीश कुमार का जब तक मन हुआ प्रशांत किशोर का इस्तेमाल किया, अब पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। बिहार की जनता नीतीश कुमार को आने वाले चुनाव में सबक सिखाने की काम करेगी। तेज प्रताप ने प्रशांत किशोर को लेकर कहा कि पीके का राजद में स्वागत है। उनके लिए हमारी पार्टी के दरवाजे खुले हुए हैं। इससे पहले प्रशांत किशोर ने कहा था कि वह 11 फरवरी के बाद अपने भविष्य में उठाने वाले कदम के बारे में जानकारी देंगे। उन्होंने कहा कि तब तक वे इस बारे में किसी से बात नहीं करेंगे। जेडीयू ने बुधवार को अपने असंतुष्ट नेताओं प्रशांत किशोर एवं महासचिव पवन वर्मा को पार्टी से निष्कासित कर दिया था। दोनों नेताओं के सीएए समेत मोदी सरकार के अन्य फैसलों को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री तथा जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार से पिछले कुछ दिनों से मतभेद सामने आ रहे थे। जेडीयू ने पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को बाहर का रास्ता दिखाते हुए उन पर नीतीश कुमार के खिलाफ 'अपमानजनक शब्दों के इस्तेमाल का तथा पार्टी अनुशासन का पालन न करने समेत गंभीर आरोप लगाए थे।