रोहित, मयंक करेंगे टेस्ट क्रिकेट में ओपेनिंग, राह नही है आसान

rohit
रोहित, मयंक करेंगे टेस्ट क्रिकेट में ओपेनिंग, राह नही है आसान

नई दिल्ली। आने वाले 2 अक्टूबर से भारत व साउथ अफ्रीका की टीमो के बीच तीन मैचों की टेस्ट क्रिकेट श्रंखला की शुरूवात होने जा रही है। दोनो टीमों के बीच हुई टी 20 सीरीज 1-1 की बराबरी पर रही जिसके बाद टेस्ट क्रिेकेट श्रंखला जीतने के लिए दोनो टीमों ने काफी तैयारियां की हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि इस बार रोहित शर्मा पहली बार टेस्ट में ओपेनिंग करने जा रहे हैं और उनका साथ मयंक अग्रवाल देंगे। बताया जाता है कि बड़े बड़े चेहरों ने ओपनिंग की लेकिन ज्यादा सफल नही रहे।

Rohit Mayank Will Open In Test Cricket The Path Is Not Easy :

टीम इंडिया के सेलेक्टर्स ने सिरीज से पहले ही इसके संकेत दिये थे कि रोहित टी 20 और वंडे में काफी सफल ओपनर रहे हैं इसलिए उन्हे टेस्ट में भी ओपनिंग करने का पूरा मौका दिया जायेगा। रोहित के सामने भी अब टेस्ट क्रिकेट में अपने आपको स्थापित करने की एक बड़ी चुनौती है। बताया जा रहा है कि टेस्ट क्रिकेट में 47 वर्ष पहले भारतीय जंमी पर दो नये ओपनरों ने पारी की शुरूवात की थी। अगर मंयक अग्रवाल रोहित ओ​पनिंग करते हैं तो ये 47 वर्षो बाद होगा कि दोनो में से किसी ने पहले टेस्ट में ओपनिंग नही की।

भारतीय ​टीम के लिए भी ये बड़ी चुनौती है कि काफी दिनो बाद दोनो खिलाड़ी पहली बार ओपनिंग करने जा रहे है, ऐसे में टीम का ये फैसला कितना कारगर साबित होता है यह देखतने वाली बात होगी। आपकों बता दें​ कि टेस्ट क्रिकेट में लम्बे अर्से से भारतीय ​टीम को एक सफल जोड़ी की तलाश है। बताया जाता है कि 1934 में खेले गए पहले टेस्ट से अभी तक भारतीय टीम ने मैदान में कुल 88 ओपनर उतारे हैं लेकिन बहुत कम जोड़ियां ही सफल हुई हैं।

बतया जाता है कि सुनील गावस्कर सबसे सफल टेस्ट ओपनर माने जाते हैं, उन्होने कुल 119 टेस्ट मैचों में ओपनिंग की और 33 शतक जड़ते हुए लगभग 50 की औसत से 9607 रन बनाये जबकि दूसरे सफल ओपनर विरेन्द्र सहवाग हैं जिन्होने कुल 98 टेस्ट मैचों में ओपनिंग की और लगभग 50 की ही औसत से 8124 रन बनाये जिसमें 22 शतक शामिल हैं। अगर बात टाप 5 की करें तो गावस्कर, सहवाग के साथ गौतम गंभीर, मुरली विजय व नवजोत सिंह सिद्धू शामिल है।

नई दिल्ली। आने वाले 2 अक्टूबर से भारत व साउथ अफ्रीका की टीमो के बीच तीन मैचों की टेस्ट क्रिकेट श्रंखला की शुरूवात होने जा रही है। दोनो टीमों के बीच हुई टी 20 सीरीज 1-1 की बराबरी पर रही जिसके बाद टेस्ट क्रिेकेट श्रंखला जीतने के लिए दोनो टीमों ने काफी तैयारियां की हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि इस बार रोहित शर्मा पहली बार टेस्ट में ओपेनिंग करने जा रहे हैं और उनका साथ मयंक अग्रवाल देंगे। बताया जाता है कि बड़े बड़े चेहरों ने ओपनिंग की लेकिन ज्यादा सफल नही रहे। टीम इंडिया के सेलेक्टर्स ने सिरीज से पहले ही इसके संकेत दिये थे कि रोहित टी 20 और वंडे में काफी सफल ओपनर रहे हैं इसलिए उन्हे टेस्ट में भी ओपनिंग करने का पूरा मौका दिया जायेगा। रोहित के सामने भी अब टेस्ट क्रिकेट में अपने आपको स्थापित करने की एक बड़ी चुनौती है। बताया जा रहा है कि टेस्ट क्रिकेट में 47 वर्ष पहले भारतीय जंमी पर दो नये ओपनरों ने पारी की शुरूवात की थी। अगर मंयक अग्रवाल रोहित ओ​पनिंग करते हैं तो ये 47 वर्षो बाद होगा कि दोनो में से किसी ने पहले टेस्ट में ओपनिंग नही की। भारतीय ​टीम के लिए भी ये बड़ी चुनौती है कि काफी दिनो बाद दोनो खिलाड़ी पहली बार ओपनिंग करने जा रहे है, ऐसे में टीम का ये फैसला कितना कारगर साबित होता है यह देखतने वाली बात होगी। आपकों बता दें​ कि टेस्ट क्रिकेट में लम्बे अर्से से भारतीय ​टीम को एक सफल जोड़ी की तलाश है। बताया जाता है कि 1934 में खेले गए पहले टेस्ट से अभी तक भारतीय टीम ने मैदान में कुल 88 ओपनर उतारे हैं लेकिन बहुत कम जोड़ियां ही सफल हुई हैं। बतया जाता है कि सुनील गावस्कर सबसे सफल टेस्ट ओपनर माने जाते हैं, उन्होने कुल 119 टेस्ट मैचों में ओपनिंग की और 33 शतक जड़ते हुए लगभग 50 की औसत से 9607 रन बनाये जबकि दूसरे सफल ओपनर विरेन्द्र सहवाग हैं जिन्होने कुल 98 टेस्ट मैचों में ओपनिंग की और लगभग 50 की ही औसत से 8124 रन बनाये जिसमें 22 शतक शामिल हैं। अगर बात टाप 5 की करें तो गावस्कर, सहवाग के साथ गौतम गंभीर, मुरली विजय व नवजोत सिंह सिद्धू शामिल है।