रोहित बोले- धोनी की बात नहीं मानता तो वनडे में 200 नहीं जड़ पाता

rohit sharma
रोहित बोले- धोनी की बात नहीं मानता तो वनडे में 200 नहीं जड़ पाता

रोहित शर्मा वनडे क्रिकेट में एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने तीन दोहरे शतक लगाए हैं। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने वनडे करियर का पहला दोहरा शतक लगाया था और उन्होंने बताया कि किस तरह से उस वक्त टीम के कप्तान एमएस धौनी ने उन्हें ये करने के लिए प्रेरित किया था। धौनी की उस प्रेरणा की वजह से ही वो ये कर सकने में कामयाब हो पाए थे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगाए अपने पहले दोहरे शतक के बाद उन्होंने फिर से दो और दोहरा शतक लगाया था।

Rohit Said If I Do Not Listen To Dhoni 200 Will Not Take Root In Odis :

रोहित शर्मा ने आर अश्विन से इंस्टाग्राम पर चैट के दौरान अपने पहले दोहरे शतक को याद किया और कहा कि इसमें धौनी की भी बड़ी भूमिका रही थी। रोहित ने कहा कि किस तरह से धौनी ने उन्हें जोर देकर कहा था कि उन्हें पारी के अंत तक टिके रहना है और दोहरा शतक बनाने का जो मौका मिला है उस मौके का पूरा फायदा उठाना चाहिए। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस मैच में उन्होंने शिखर धवन और सुरेश रैना के साथ अच्छी साझेदारी की थी, लेकिन 38 गेंदों पर धौनी के साथ उन्होंने 62 रन की साझेदारी की जो सबसे अहम साबित हुआ।

रोहित शर्मा ने कहा कि मैंने सच में ये कभी नहीं सोचा था कि वनडे में कभी दोहरा शतक लगा पाउंगा। मैं अच्छी बल्लेबाजी करना चाहता था और इसके बाद थोड़ी सी बारिश हो गई। जब खेल शुरू हुआ तो शिखर और विराट जल्दी ही आउट हो गए। इसके बाद सुरेश रैना के साथ मैंने अच्छी साझेदारी की। रैना जब आउट हुए तो युवी आए और वो भी ज्यादा देर तक नहीं टिक पाए।

उन्होंने कहा कि इस मैच में मैंने धौनी के साथ 48वें ओवर तक बल्लेबाजी की और इस दौरान वो मुझे प्रेरित करते रहे। उन्होंने मुझसे कहा कि मैं रिस्क लूंगा, लेकिन तुम सेट बल्लेबाज हो और मैं चाहता हूं कि तुम पूरे 50 ओवर तक खेलो। उन्होंने ना सिर्फ मुझे प्रेरित किया बल्कि इस बड़ी पारी को पूरा करने में सहयोग भी किया।

रोहित शर्मा वनडे क्रिकेट में एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने तीन दोहरे शतक लगाए हैं। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने वनडे करियर का पहला दोहरा शतक लगाया था और उन्होंने बताया कि किस तरह से उस वक्त टीम के कप्तान एमएस धौनी ने उन्हें ये करने के लिए प्रेरित किया था। धौनी की उस प्रेरणा की वजह से ही वो ये कर सकने में कामयाब हो पाए थे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगाए अपने पहले दोहरे शतक के बाद उन्होंने फिर से दो और दोहरा शतक लगाया था। रोहित शर्मा ने आर अश्विन से इंस्टाग्राम पर चैट के दौरान अपने पहले दोहरे शतक को याद किया और कहा कि इसमें धौनी की भी बड़ी भूमिका रही थी। रोहित ने कहा कि किस तरह से धौनी ने उन्हें जोर देकर कहा था कि उन्हें पारी के अंत तक टिके रहना है और दोहरा शतक बनाने का जो मौका मिला है उस मौके का पूरा फायदा उठाना चाहिए। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस मैच में उन्होंने शिखर धवन और सुरेश रैना के साथ अच्छी साझेदारी की थी, लेकिन 38 गेंदों पर धौनी के साथ उन्होंने 62 रन की साझेदारी की जो सबसे अहम साबित हुआ। रोहित शर्मा ने कहा कि मैंने सच में ये कभी नहीं सोचा था कि वनडे में कभी दोहरा शतक लगा पाउंगा। मैं अच्छी बल्लेबाजी करना चाहता था और इसके बाद थोड़ी सी बारिश हो गई। जब खेल शुरू हुआ तो शिखर और विराट जल्दी ही आउट हो गए। इसके बाद सुरेश रैना के साथ मैंने अच्छी साझेदारी की। रैना जब आउट हुए तो युवी आए और वो भी ज्यादा देर तक नहीं टिक पाए। उन्होंने कहा कि इस मैच में मैंने धौनी के साथ 48वें ओवर तक बल्लेबाजी की और इस दौरान वो मुझे प्रेरित करते रहे। उन्होंने मुझसे कहा कि मैं रिस्क लूंगा, लेकिन तुम सेट बल्लेबाज हो और मैं चाहता हूं कि तुम पूरे 50 ओवर तक खेलो। उन्होंने ना सिर्फ मुझे प्रेरित किया बल्कि इस बड़ी पारी को पूरा करने में सहयोग भी किया।