पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के पुत्र रोहित शेखर का निधन

rohit
पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के पुत्र रोहित शेखर का निधन

लखनऊ। यूपी-उत्तराखंड के पूर्व सीएम एनडी तिवारी के पुत्र रोहित शेखर तिवारी की उनके हौज खास स्थित निवास पर हृदय गति रुकने से मौत हो गई। दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में रहने वाले रोहित शेखर को उनकी मां और पत्नी साकेत के मैक्स अस्पताल लेकर पहुंची थीं जहां डॉक्टरों ने उन्हें शाम 5.50 बजे मृत घोषित कर दिया।

Rohit Shekhar Son Of Nd Tiwari Died Due To Heart Attack In Delhi :

रोहित शेखर दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में रहते थे। उनकी मां उज्जवला तिवारी और पत्नी उन्हें अस्पताल लेकर पहुंची थीं। पिछले साल 18 अक्टूबर को नारायण दत्त तिवारी का भी निधन हो गया था। इसी दिन उनका जन्मदिन भी था। रोहित शेखर से लंबी कानूनी लड़ाई के बाद एनडी तिवारी ने उन्हें अपना बेटा माना था। रोहित की शादी पिछले साल 11 मई को हुई थी और वह सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस कर रहे थे।

सात साल एनडी तिवारी के खिलाफ लड़ा पितृत्व का केस

रोहित शेखर तिवारी ने स्वर्गीय एनडी तिवारी के खिलाफ करीब सात साल तक पितृत्व का केस लड़ा। इसके बाद डीएनए टेस्ट में रोहित शेखर के एनडी तिवारी के बेटा होने की पुष्टि हुई, जिसेक बाद तिवारी ने भी रोहित शेखर को अपना बेटा मान लिया।

साल 2008 में रोहित शेखर ने एक याचिका दायर कर दावा किया था कि एन.डी. तिवारी उनके बायलॉजिकल पिता हैं। रोहित शेखर की मां उज्जवला ने डीएनए रिपोर्ट आने के बाद कहा था कि मुझे आज अपने बेटे पर गर्व है। एनडी तिवारी से माफी के सवाल पर उन्होंने ये भी कहा था कि मुझे उनसे कुछ नहीं चाहिए।

लखनऊ। यूपी-उत्तराखंड के पूर्व सीएम एनडी तिवारी के पुत्र रोहित शेखर तिवारी की उनके हौज खास स्थित निवास पर हृदय गति रुकने से मौत हो गई। दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में रहने वाले रोहित शेखर को उनकी मां और पत्नी साकेत के मैक्स अस्पताल लेकर पहुंची थीं जहां डॉक्टरों ने उन्हें शाम 5.50 बजे मृत घोषित कर दिया। रोहित शेखर दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में रहते थे। उनकी मां उज्जवला तिवारी और पत्नी उन्हें अस्पताल लेकर पहुंची थीं। पिछले साल 18 अक्टूबर को नारायण दत्त तिवारी का भी निधन हो गया था। इसी दिन उनका जन्मदिन भी था। रोहित शेखर से लंबी कानूनी लड़ाई के बाद एनडी तिवारी ने उन्हें अपना बेटा माना था। रोहित की शादी पिछले साल 11 मई को हुई थी और वह सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस कर रहे थे। सात साल एनडी तिवारी के खिलाफ लड़ा पितृत्व का केस रोहित शेखर तिवारी ने स्वर्गीय एनडी तिवारी के खिलाफ करीब सात साल तक पितृत्व का केस लड़ा। इसके बाद डीएनए टेस्ट में रोहित शेखर के एनडी तिवारी के बेटा होने की पुष्टि हुई, जिसेक बाद तिवारी ने भी रोहित शेखर को अपना बेटा मान लिया। साल 2008 में रोहित शेखर ने एक याचिका दायर कर दावा किया था कि एन.डी. तिवारी उनके बायलॉजिकल पिता हैं। रोहित शेखर की मां उज्जवला ने डीएनए रिपोर्ट आने के बाद कहा था कि मुझे आज अपने बेटे पर गर्व है। एनडी तिवारी से माफी के सवाल पर उन्होंने ये भी कहा था कि मुझे उनसे कुछ नहीं चाहिए।