मिस्ट्री बनती जा रही है रोहित की मौत, पूरी रात बंद था पत्नी अपूर्वा का मोबाइल फोन !

rohit
मिस्ट्री बनती जा रही है रोहित शेखर की मौत, पूरी रात बंद था पत्नी अपूर्वा का मोबाइल फोन !

नई दिल्‍ली। पूर्व सीएम एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की हत्या के बाद पुलिस और क्राइम ब्रांच ने तफ्तीश तेज कर दी है। शुरूआती जांच में करीबी ही रडार पर हैं। सूत्रों की माने तो जांच में सामने आया है कि वारदात के दिन पत्नी अपूर्वा का मोबाइल फोन पूरी रात बंद था। हालांकि इसकी वजह डिफेंस कालोनी में नेटवर्क न होना भी बताया जा रहा है। इसके बाद सुबह एक नंबर पर 11 बजे यानी 16 अप्रैल को एक कंपनी का मैसेज आया जो मोबाइल कंपनी का होता है।

Rohit Shekhars Death Case Wifes Apoorva Mobile Phone Was Closed All Night :

पुलिस सूत्रों का कहना है हि कि रात तीन से चार बजे के आस—पास शेखर के नंबर से किसी को फोन करने की कोशिश की गई थी लेकिन फोन नहीं मिला। वहीं अपूर्वा का मोबाइल फोन भी 15 अप्रैल की शाम करीब 7 बजकर 30 मिनट पर बंद हो गया था। इसकी वजह डिफेंस कालोनी इलाके में नेटवर्क न होना भी हो सकता है। इसके बाद अगले दिन 16 अप्रैल सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर फोन ऑन हुआ।

सुबह एक फोन अपूर्वा ने दिल्ली से बाहर किया। वहीं मां उज्जवला का आरोप है कि अपूर्वा और रोहित की बीच अक्सर विवाद होता रहता था। इसके साथ ही पुलिस प्रापर्टी विवाद को लेकर भी मामले को जोड़ रही है और जांच पड़ताल करने में जुटी है। सूत्रों की माने तो जांच कर रही दिल्ली पुलिस और क्राइम ब्रांच को अहम सुराग मिले है। सीडीआर में मिले नंबर के आधार पर वह जांच पड़ताल कर रही है।

इसके साथ ही अपूर्वा और नौकरों से पूछताछ करके कई अहम सुराग जुटाए हैं। बता दें कि रोहित शेखर की संदिग्ध हालात में मौत हो गयी थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि रोहित की हत्या की गयी है। इस खुलासे के बाद पुलिस ने जांच पड़ताल तेज कर दी और करीबियों से पूछताछ कर सुराग जुटाना शुरू कर दिया। पुलिस सूत्रों की माने तो जल्द ही वारदात से राजफाश हो जायेगा।

नई दिल्‍ली। पूर्व सीएम एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की हत्या के बाद पुलिस और क्राइम ब्रांच ने तफ्तीश तेज कर दी है। शुरूआती जांच में करीबी ही रडार पर हैं। सूत्रों की माने तो जांच में सामने आया है कि वारदात के दिन पत्नी अपूर्वा का मोबाइल फोन पूरी रात बंद था। हालांकि इसकी वजह डिफेंस कालोनी में नेटवर्क न होना भी बताया जा रहा है। इसके बाद सुबह एक नंबर पर 11 बजे यानी 16 अप्रैल को एक कंपनी का मैसेज आया जो मोबाइल कंपनी का होता है। पुलिस सूत्रों का कहना है हि कि रात तीन से चार बजे के आस—पास शेखर के नंबर से किसी को फोन करने की कोशिश की गई थी लेकिन फोन नहीं मिला। वहीं अपूर्वा का मोबाइल फोन भी 15 अप्रैल की शाम करीब 7 बजकर 30 मिनट पर बंद हो गया था। इसकी वजह डिफेंस कालोनी इलाके में नेटवर्क न होना भी हो सकता है। इसके बाद अगले दिन 16 अप्रैल सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर फोन ऑन हुआ। सुबह एक फोन अपूर्वा ने दिल्ली से बाहर किया। वहीं मां उज्जवला का आरोप है कि अपूर्वा और रोहित की बीच अक्सर विवाद होता रहता था। इसके साथ ही पुलिस प्रापर्टी विवाद को लेकर भी मामले को जोड़ रही है और जांच पड़ताल करने में जुटी है। सूत्रों की माने तो जांच कर रही दिल्ली पुलिस और क्राइम ब्रांच को अहम सुराग मिले है। सीडीआर में मिले नंबर के आधार पर वह जांच पड़ताल कर रही है। इसके साथ ही अपूर्वा और नौकरों से पूछताछ करके कई अहम सुराग जुटाए हैं। बता दें कि रोहित शेखर की संदिग्ध हालात में मौत हो गयी थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि रोहित की हत्या की गयी है। इस खुलासे के बाद पुलिस ने जांच पड़ताल तेज कर दी और करीबियों से पूछताछ कर सुराग जुटाना शुरू कर दिया। पुलिस सूत्रों की माने तो जल्द ही वारदात से राजफाश हो जायेगा।