परेशान न हों! 72 घंटे और चलेंगे पुराने नोट

नई दिल्ली: बंद किये जा चुके 500 और 1000 रुपये के नोट पेट्रोल पम्प, अदालत शुल्क, बिजली बिल और केन्द्रीय भंडार जैसे सहकारी उपभोक्ता स्टोरों में 14 नवम्बर तक उपयोग किये जा सकेंगे। गत आठ नवम्बर को सरकार ने 500 और 1000 रुपये के नोटों को अमान्य कर दिया है और पहले 72 घंटे इन नोटों से बिजली बिल, पेट्रोल पंपों, सरकारी अस्पतालों के बिल आदि चुकाने की छूट दी गयी थी लेकिन 100 रुपये और दो हजार रुपये के नये नोटों की पर्याप्त उपलब्धता नहीं होने के मद्देनजर सरकार ने कुछ महत्वपूर्ण स्थानों पर बंद किये जा चुके नोट के उपयोग की अवधि 14 नवम्बर तक बढ़ा दी है।




वित्त मंत्रालय ने यहां जारी बयान में कहा कि रिजर्व बैंक के पास पर्याप्त नकदी है और धीरे-धीरे बैंक शाखाओं और एटीएम में नकदी की आपूर्ति बढ़ायी जा रही है हालांकि लोगों को हो रही असुविधा और समाज के विभिन्न वर्गों से मिल रही प्रतिक्रियाओं के आधार पर अब अदालत शुल्क के भुगतान के साथ ही केन्द्रीय भंडार जैसे सहकारी उपभोक्ता भंडारों में पहचान पत्र दिखाकर और बिजली बिल के पुराने बकाये के साथ ही वर्तमान बिलों का 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों से 14 नवम्बर तक व्यक्तिगत तौर पर भुगतान किया जा सकेगा।




राष्ट्रीय राजमार्गों पर भुगतान को लेकर हो रही कठिनाइयों के मद्देनजर सड़क परिवहन मंत्रालय ने 14 नवम्बर तक सभी टोल प्लाजा को टोल टैक्स मुक्त कर दिया है।