डीएम के आदेश के बावजूद RSS प्रमुख मोहन भागवत ने फहराया तिरंगा

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने मंगलवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर केरल के पलक्कड़ में तिरंगा फहराया। भागवत ने पलकक्ड़ के जिलाधिकारी के आदेश के बावजूद तिरंगा फहराया। डीएम का आदेश था कि कोई भी राजनेता स्कूल में तिरंगा ना फहराए, फिर भी ऐसा किया गया।

मामला केरल के पलक्कड़ में एक स्कूल का है, जहां जिला प्रशासन ने उन्हें तिरंगा फहराने से रोक दिया। डीएम ने स्कूल को एक मेमो जारी कर कहा कि कोई नेता सरकार से सहायता प्राप्त स्कूल में भारतीय ध्वज नहीं फहरा सकता है। डीएम ने कहा कि स्कूल में कोई शिक्षक या निर्वाचित प्रतिनिधि ही तिरंगा फहरा सकता है। आरएसएस का कहना है कि झंडा कोड के मुताबिक, स्वतंत्रता दिवस पर कोई भी स्कूल में ध्वजारोहण कर सकता है। बता दें कि यह स्कूल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के समर्थक चलाते हैं।

{ यह भी पढ़ें:- केरल: तूफान ओखी में मृतकों की संख्या बढ़कर 36 हुई, 100लापता }

आरएसएस ने पहली बार 2002 में नागपुर में तिरंगा फहराया था। केरल में संघ कार्यकर्ताओं पर हमले और हत्या के मामलों में भी बढ़ोतरी हुई है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी केरल में बीजेपी नेताओं के खिलाफ होने वाले हादसों को लेकर कई बार सार्वजनिक मंचों से आवाज उठा चुके हैं।

{ यह भी पढ़ें:- मोहन भागवत का ऐलान, राम जन्मभूमि पर सिर्फ राम मंदिर ही बनेगा और कुछ नहीं }

Loading...