जय अमित शाह के बचाव में बोली RSS- आरोप लगाने वाले पहले सिद्ध करें

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी में गड़बड़ी के लग रहे आरोपों का राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने बचाव किया है। आरएसएस का मानना है कि मामले की जांच होनी चाहिए लेकिन आरोप लगाने वालों को आरोपों को सिद्ध भी करना चाहिए। संघ के सह सरकार्यवाहक दत्तात्रेय होसबाले ने संवाददाताओं को बताया, किसी भी भ्रष्टाचार के आरोपों की आवश्यक जांच होनी चाहिए।

होसबाले ने कहा कि प्रथम दृष्टया आरोपों के सिद्ध होने पर ही कार्रवाई हो सकती है। उससे पहले आरोप लगाने वालों को इन्हें सिद्ध करना चाहिए।होसबाले ने नोटबंदी और जीएसटी के मसले पर कहा कि लोगों ने इन्हें स्वीकार कर लिया है और आने वाले समय में इनके सकारात्मक नतीजे सामने आएंगे।

{ यह भी पढ़ें:- चुनावी मूड में नजर आए पीएम मोदी, राहुल को जवाब देते हुए शाह पर दी सफाई }

अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की तीन दिवसीय बैठक 12 से 14 अक्टूबर तक भोपाल के केरवा डेम क्षेत्र में शारदा विहार आवासीय विद्यालय में होगी। इस बैठक में संघ की बीते छह माह की गतिविधियों, आगामी कार्ययोजना और देश के वर्तमान हालात पर चर्चा होगी। बैठक में केरल में आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं पर हो रहे हमलों व रोहिंग्या मुसलमानों के विषय पर भी चर्चा होने की संभावना है।

बता दें कि अमित शाह के बेटे जय अमित शाह ने संपत्ति की स्टोरी करने वाली ‘द वायर’ वेबसाइट के संपादक समेत सात लोगों के खिलाफ अहमदाबाद कोर्ट में आपराधिक मानहानि का केस किया है। वेबसाइट का दावा है कि एक साल में जय शाह की कंपनी का टर्नओवर 16,000 गुना बढ़ गया।

{ यह भी पढ़ें:- भ्रष्टाचार पर योगी सरकार का सेल्फी वार }