तमाम कयासों के बीच रामलाल हो सकते हैं यूपी के अगले सीएम

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में बीजेपी को मिले अभूतपूर्व जनादेश के बाद से भावी मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर जारी कयासों के बीच आरएसएस के केन्द्रीय संगठन मंत्री रामलाल के नाम पर पार्टी की आखिरी मोहर लगती नजर आ रही है। शुक्रवार को पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक रामलाल के नाम को पार्टी ने फाइनल कर दिया है।




सूत्रों की माने तो 2019 के लोकसभा चुनावों में ​दलित मतदाताओं को अपने पाले में लाने की नियत और आरएसएस की सिफारिशों के बाद पार्टी ने यूपी के मुख्यमंत्री के रूप में रामलाल को चुना है। रामलाल का नाम की चर्चा सियासी गलियारों में भले ही न नजर आ रही हो लेकिन तमाम बड़े चेहरों को स्वयं को सीएम पद की दावेदारी की रेस से अलग करने के बाद रामलाल के नाम को मजबूती मिलती नजर आ रही है।




यूपी की सियासत को करीब से देखने वालों की माने तो बीजेपी रामलाल को मुख्यमंत्री बनाकर बीजेपी सूबे के दलित वोट बैंक में बड़ी सेंधमारी कर सकती है। इसके साथ ही रामलाल के आरएसएस से लंबे जुड़ाव के चलते संघ की विचारधारा से जुड़े पार्टी के वोटबैंक में उनके चुनाव को लेकर एक सकारात्मक संदेश जाएगा।

Loading...