1. हिन्दी समाचार
  2. UN में इमरान के भाषण पर संघ ने दी बधाई, कहा- दुनिया में यूं ही करते रहें हमारा प्रचार

UN में इमरान के भाषण पर संघ ने दी बधाई, कहा- दुनिया में यूं ही करते रहें हमारा प्रचार

Rss Reply On Pak Pm Imrans Speech In Un Said Keep Spreading Like This In The World

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र के मंच से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर निशाना साधने को संघ ने भारत का विरोध करार दिया है। उन्‍होंने कहा,‘ संघ केवल भारत के लिए है हमारी कोई शाखा दुनिया में कहीं नहीं है फिर पाकिस्‍तान क्‍यों नाराज है हमसे। इसका मतलब है कि वो अगर संघ से नाराज है तो भारत से भी नाराज है।’ उन्होंने कहा कि भारत और आरएसएस एक दूसरे के पर्यायवाची हैं।

पढ़ें :- ऑस्ट्रेलिया से जीत के बाद विराट कोहली ने बताया किस खिलाड़ी की वजह से मैच जीते

उन्होंने कहा, “संघ केवल भारत में है। हमारी कोई शाखा दुनिया में कहीं नहीं है, ऐसे में पाकिस्तान हमसे क्यों नाराज है? इसका मतलब है कि वह अगर संघ से नाराज है तो कहीं भारत से नाराज है।” उन्होंने कहा, “हम भी यही चाहते थे कि दुनिया संघ और भारत को एक ही समझे, दो में न समझे और यह काम बड़ी अच्छी तरह से हमारे इमरान साहब ने किया है इसलिए हम उनको बधाई देते हैं। बिना कुछ किए ही इमरान खान दुनिया में हमें प्रसिद्धि दिला रहे हैं यह तो अच्छी बात है।”  

‘ईश्वर से प्रार्थना, पाक पीएम ऐसे ही बोलते रहें’

सह सर कार्यवाह ने कहा कि बिना कुछ करे-धरे हमारे नाम को दुनिया में पहुंचा रहे हैं। जो-जो आतंकवाद से पीड़ित है, आतंकवाद के विरोध में हैं, वे दुनिया में यह अनुभव करने लगे हैं कुछ बात है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कहीं न कहीं आतंकवाद के विरोध में तो है तभी तो इतना विरोध कर रहा है। ऐसे में बिना कुछ किए इतनी प्रसिद्धि, प्रतिष्ठा मिल रही है इतना बहुत है। हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि वह (पाक पीएम) अपनी इस वाणी को विराम न दें, बोलते रहें।  

इमरान ने क्या कहा था?

पढ़ें :- मनी लॉन्ड्रिंग केस : भगोड़े विजय माल्या पर शिकंजा, 14 करोड़ की प्रॉपर्टी ईडी ने की जब्त

पाक पीएम इमरान खान ने यूएन में अपने भाषण में आरएसएस का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार के गृह मंत्री ने कहा था कि आरएसएस के कैंपों में आतंक की ट्रेनिंग दी जाती है। आपको बता दें कि साल 2013 में तत्कालीन गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा था कि उनके पास इस बात की रिपोर्ट है कि बीजेपी और संघ के ट्रेनिंग कैंपों में हिंदू आतंकवाद की ट्रेनिंग दी जाती है। हालांकि कुछ ही घंटे बाद शिंदे अपनी बात से पलट गए थे। इसके बाद शिंदे ने सफाई देते हुए कह दिया कि उन्होंने हिंदू आतंकवाद नहीं बल्कि भगवा आतंकवाद कहा था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...