भारत माता को संबोधित पत्र लिखकर आरएसएस कार्यकर्ता ने लगा ली खुद को आग

jaipur attempt to suicide
भारत माता को संबोधित पत्र लिखकर आरएसएस कार्यकर्ता ने लगा ली खुद को आग

जयपुर। राजस्थान में मेडिकल की दुकान चलाने वाले एक आरएसएस कार्यकर्ता ने रविवार सुबह खुद शरीर पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा ली और फिर भारत माता की जय के नारे लगाते हुए करीब 100 मीटर तक दौड़ता रहा। उसे आग की लपटों से घिरा देख आसपास मौजूद लोगों ने बचाया और फिर घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने उसे पास के एक निजी अस्पताल पहुंचाया, जहां से परिजन उसे गंभीर हालत में ​लेकर दिल्ली स्थित एक निजी अस्पताल चले गए। बताया जाता है कि उसके शरीर का 80 प्रतिशत हिस्सा जल चुका है।

Rss Worker Attemt To Suicide In Jaipur :

बता दें कि इस आरएसएस कार्यकर्ता ने ये कदम उठाने से पहले भारत माता को संबोधित एक पत्र भी लिखा, जिसमें उसने जातिवाद के मुदृदो व आरक्षण प्रणाली से तंग आकर खुद की जिंदगी समाप्त करने की बात कही है। परिजनों के मुताबिक वो भारतबंद से भी बहुत आहत था।

राजस्थान के जयपुर में एक आरएसएस कार्यकर्ता और युवा व्यापारी रघुवीर प्रसाद गुप्ता ने आग लगाकर खुदकुशी करने की कोशिश की है। डाक्टरों ने उसके शरीर का ज्यादातर हिस्सा जल जाने के साथ हालत बहुत नाजुक बताई है। प्रत्यक्ष​दर्शियों ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि रविवार सुबह रघुवीर अपने मेडिकल स्टोर के बाहर था, तभी अचानक उसने शरीर पर ​पेट्रोल छिड़ककर आग लगा ली और फिर भारत माता की जय के नारे लगाते हुए चौराहे की तरफ भागने लगा। ये देख उन लोगों ने आग बुझाई और इसकी सूचना परिजनों को देने के साथ ही पुलिस को दी। पुलिस को दिए बयान के मुताबिक आरक्षण प्रणाली और समाज में फैल रहे जातिवाद से आहत होकर रघुवीर ने यह खौफनाक कदम उठाया।

डीसीपी (पश्चिम) अशोक गुप्ता ने बताया कि रघुवीर ने बताया है कि वो बीते सप्ताह एससी एसटी एक्ट में बदलाव को लेकर हुए भारत बंद से बहुत आहत है। वो ऐसे समाज में नही जीना चाहता है। जिसके चलते वो ये कदम उठा रहा है। वहीं सूत्रों की मानें तो रघुवीर का अपने परिवार के साथ व्यवहार कोई अच्छा नहीं है। इस कारण भी वह तनाव में था।

जयपुर। राजस्थान में मेडिकल की दुकान चलाने वाले एक आरएसएस कार्यकर्ता ने रविवार सुबह खुद शरीर पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा ली और फिर भारत माता की जय के नारे लगाते हुए करीब 100 मीटर तक दौड़ता रहा। उसे आग की लपटों से घिरा देख आसपास मौजूद लोगों ने बचाया और फिर घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने उसे पास के एक निजी अस्पताल पहुंचाया, जहां से परिजन उसे गंभीर हालत में ​लेकर दिल्ली स्थित एक निजी अस्पताल चले गए। बताया जाता है कि उसके शरीर का 80 प्रतिशत हिस्सा जल चुका है।बता दें कि इस आरएसएस कार्यकर्ता ने ये कदम उठाने से पहले भारत माता को संबोधित एक पत्र भी लिखा, जिसमें उसने जातिवाद के मुदृदो व आरक्षण प्रणाली से तंग आकर खुद की जिंदगी समाप्त करने की बात कही है। परिजनों के मुताबिक वो भारतबंद से भी बहुत आहत था।राजस्थान के जयपुर में एक आरएसएस कार्यकर्ता और युवा व्यापारी रघुवीर प्रसाद गुप्ता ने आग लगाकर खुदकुशी करने की कोशिश की है। डाक्टरों ने उसके शरीर का ज्यादातर हिस्सा जल जाने के साथ हालत बहुत नाजुक बताई है। प्रत्यक्ष​दर्शियों ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि रविवार सुबह रघुवीर अपने मेडिकल स्टोर के बाहर था, तभी अचानक उसने शरीर पर ​पेट्रोल छिड़ककर आग लगा ली और फिर भारत माता की जय के नारे लगाते हुए चौराहे की तरफ भागने लगा। ये देख उन लोगों ने आग बुझाई और इसकी सूचना परिजनों को देने के साथ ही पुलिस को दी। पुलिस को दिए बयान के मुताबिक आरक्षण प्रणाली और समाज में फैल रहे जातिवाद से आहत होकर रघुवीर ने यह खौफनाक कदम उठाया।डीसीपी (पश्चिम) अशोक गुप्ता ने बताया कि रघुवीर ने बताया है कि वो बीते सप्ताह एससी एसटी एक्ट में बदलाव को लेकर हुए भारत बंद से बहुत आहत है। वो ऐसे समाज में नही जीना चाहता है। जिसके चलते वो ये कदम उठा रहा है। वहीं सूत्रों की मानें तो रघुवीर का अपने परिवार के साथ व्यवहार कोई अच्छा नहीं है। इस कारण भी वह तनाव में था।