1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. बैंकों में आरटीजीएस सुविधा 18 अप्रैल को 14 घंटे के लिए रहेगी बंद : आरबीआई

बैंकों में आरटीजीएस सुविधा 18 अप्रैल को 14 घंटे के लिए रहेगी बंद : आरबीआई

देश के बैंकों रविवार 18 अप्रैल को 14 घंटे के लिए डिजिटल भुगतान रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) की सुविधा बंद रहेगी। यह जानकारी आरबीआई ने एक बयान जारी कर दी है। आरबीआई ने कहा कि आरजीटीएस में तकनीकी सुधार के लिए ऐसा किया जा रहा है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुंबई। देश के बैंकों रविवार 18 अप्रैल को 14 घंटे के लिए डिजिटल भुगतान रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) की सुविधा बंद रहेगी। यह जानकारी आरबीआई ने एक बयान जारी कर दी है। आरबीआई ने कहा कि आरजीटीएस में तकनीकी सुधार के लिए ऐसा किया जा रहा है। इसके लिए 17 अप्रैल शनिवार की मध्यरात्रि से रविवार दोपहर 2 बजे तक यह सुविधा बंद रहेगी। हालांकि इस दौरान नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर (एनईएफटी) की सुविधा जारी रहेगी। आरबीआई ने बैंकों से कहा कि वह अपने-अपने ग्राहकों को सूचित कर दें कि वे भुगतान को सुचारु रखने की योजना बना लें।

पढ़ें :- Digital Rupee : RBI एक दिसंबर को लॉन्च करेगा खुदरा डिजिटल रुपया

आरबीआई ने कहा कि दो लाख रुपये से अधिक राशि भेजने के लिये उपयोग होने वाली आरटीजीएस (रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट) सेवा शनिवार की मध्य रात्रि से 14 घंटे के लिए उपलब्ध नहीं होगी। इसका कारण इसके ‘डिजास्टर रिकवरी’ समय को और बेहतर करने के लिए तकनीकी रूप से इसे उन्नत बनाना है। वहीं, 2 लाख रुपये तक के लेन-देन के लिए उपयोग होने वाला नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर (एनईएफटी) पहले की तरह काम करता रहेगा।

रिजर्व बैंक ने बताया कि 17 अप्रैल को कारोबार की समाप्ति के बाद आरटीजीएस प्रणाली की क्षमता को बेहतर बनाने तथा ‘डिजास्टर रिकवरी’ (आपदा सुधार) समय को और बेहतर बनाने के लिए आरटीजीएस को तकनीकी रूप से उन्नत किया जाएगा। ऐसे में आरटीजीएस सेवा 18 अप्रैल 2021 को 00:00 बजे (शनिवार रात) से 14.00 बजे (रविवार तक) तक उपलब्ध नहीं होगी। आरबीआई ने कहा कि सदस्य बैंक अपने ग्राहकों को इसके अनुसार अपने भुगतान संचालन की योजना के लिए सूचित कर सकते हैं। बता दें कि आरटीजीएस सुविधा पिछले साल 14 दिसंबर से 24 घंटे उपलब्ध है। इसके साथ भारत उन गिने-चुने देशों में शामिल है, जहां यह सुविधा 24 घंटे काम करती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...