सोनिया गांधी की नागरिकता के ब्यौरे के लिए मांगी गई RTI, गृह मंत्रालय देगा जवाब

नई दिल्ली। उज्जैन के एक आरटीआई (RTI) एक्टिविस्ट द्वारा विदेश मंत्रालय से सोनिया गांधी समेंत अन्य विदेशी नागरिकों भारतीय नागरिकता दिए जाने के संबन्ध में मांगी गई जानकारी जानकारी के मामले को केन्द्रीय सूचना आयोग ने संज्ञान में लिया है। मुख्य सूचना आयुक्त आर के माथुर ने विदेश मंत्रालय द्वारा केन्द्रीय गृह मंत्रालय को भेजे गए इस आवेदन पर गृह मंत्रालय के जन सूचना अधिकारी को इस आवेदन पर 15 दिनों के भीतर जानकारी देने को कहा है।

केन्द्रीय सूचना आयोग को लगता है कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय के पास भी सोनिया गांधी को भारतीय नागरिकता दिए जाने के संदर्भ में जानकारी नहीं है इसलिए अभी तक इस संबन्ध में किसी प्रकार का जवाब आवेदक को नहीं मिला है। इस विषय को ध्यान में रखते हुए मुख्य सूचना आयुक्त ने गृह मंत्रालय के जन सूचना ​अधिकारी को भी 15 दिन बाद तलब किया है।

मिली जानकारी के मुताबिक इस आरटीआई आवेदक ने सोनिया गांधी द्वारा भारतीय नागरिकता प्राप्त करने के लिए दिए गए आवेदन से लेकर उनके द्वारा पेश किए गए दस्तावेजों और उन दस्तावेजों के सत्यापन के लिए अपनाई गई प्रक्रिया की पूरी जानकारी सत्यापित प्रतिलिपि के साथ मांगी है। इसके साथ ही विदेशी नागरिकों को भारतीय ​नागरिकता दिए जाने की पूरी प्रक्रिया के बारे में भी जानकारी उपलब्ध करवाने को कहा गया है।

इस आरटीआई पर जिस तरह से केन्द्रीय विदेश और गृह मंत्रालय ने प्रतिक्रिया जाहिर की है उसके बाद यह कहा जाने लगा है कि आने वाले समय में सोनिया गांधी को लेकर एकबार फिर नागरिकता विवाद गहरा सकता है।