1. हिन्दी समाचार
  2. ट्रेन शुरु होने को लेकर अफवाहों का बाजार गर्म, रेलवे ने कहा इस बारे में फिलहाल कोई आधिकारिक घोषणा नहीं

ट्रेन शुरु होने को लेकर अफवाहों का बाजार गर्म, रेलवे ने कहा इस बारे में फिलहाल कोई आधिकारिक घोषणा नहीं

Rumors About The Start Of The Train Market Are Hot The Railways Said That There Is No Official Announcement About It At This Time

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

जयपुर: लॉकडाउन के दौर में फिर से ट्रेनें शुरू होने को लेकर अफवाहों का बाज़ार गर्म हो गया है। इसे देखते हुए उत्तर पश्चिम रेलवे ने एक बार फिर से यात्रियों को आगाह किया है कि ट्रेनें शुरू होने को लेकर अभी तक रेलवे की तरफ से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

पढ़ें :- Varun-Natasha की Wedding party में जाने के लिए सलमान ने कैंसिल की शूटिंग 

इसलिए रेलयात्री संयम बरतें. फिलहाल अग्रिम आदेशों तक रेलवे किसी तरह कि टिकट बुकिंग या रिज़र्वेशन नहीं कर रहा है। 3 मई तक के लॉकडाउन को खत्म होने में अब महज 3 दिनों का समय बचा है। ऐसे में देशभर के अलग अलग हिस्सों में फंसे हुए लोगों की नजरें पैसेंजर ट्रेनों के शुरू होने पर टिकी हुई है। ट्रेनें चलने को लेकर अफवाहें चरम पर हैं। जैसे टिकटों के दाम महंगे होगें। 3 मई से रेलवे स्टेशन पर ही टिकट मिलेगी।

रिजर्वेशन शुरू होने वाले हैं। इन सभी अफवाहों का एनडब्ल्यूआर के सीपीआरओ अभय शर्मा ने खंडन किया है और कहा है कि जब तक आगे से आदेश नहीं मिल जाते तब तक रेल सेवाएं स्थगित रहेंगी। फिलहाल टिकट बुकिंग से लेकर रिजर्वेशन तक सब बंद हैं, इसलिए रेलयात्री किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान न दें।

बकौल सीपीआरओ लॉकडाउन के वजह से रेलवे ने टिकट के रिफंड के नियमों में बदलाव किए थे, वे बदलाव यथावत रहेंगे। पहले यात्री को टिकट रद्द करवाने और रिफंड लेने के लिए 3 दिन का समय मिलता था लेकिन अब रेलयात्रियों को रिफंड के लिए ट्रेन शुरू होने की तारीख से लेकर 3 महीने तक का समय दिया जा रहा है।

हाल ही में रेल शुरू होने को लेकर मुंबई में बांद्रा रेलवे स्टेशन पर हजा़रों रेलयात्रियों की भीड़ इकठ्ठा हो गई थी, इसे देखते हुए रेलवे बार-बार एडवाइज़री जारी कर रहा है ताकि यात्रियों तक साफ संदेश जा सके। हालांकि रेलवे अपने सभी जोन के साथ नियमित तौर पर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग कर सुझाव ले रहा है।

पढ़ें :- ममता बनर्जी ने चुनाव से पहले उठाई देश में चार राजधानियों की मांग, कहा-सिर्फ दिल्ली ही क्यों?

यह तय है कि जब ट्रेनें शुरू होंगी तो कोरोना के चलते काफी हद तक बदलाव किए जाएंगे। इसमें सबसे ज्यादा ध्यान सोशल डिस्टेंसिंग पर रहेगा क्योंकि रेलवे ही वह पब्लिक ट्रांसपोर्ट है जहां सबसे ज्यादा भीड़ उमड़ती है। ऐसे में ट्रेनों को चलाना रेलवे के लिए सबसे ज्यादा चुनौतीपूर्ण होगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...