माया और मुलायम के बंगलों को लेकर उड़ी ये बड़ी अफवाह…

mayawati mulayam
मायावती-मुलायम सिंह यादव

लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी के पूर्व मुख्यमंत्रियों के बंगले खाली करवाना राज्य संपत्ति विभाग के लिए टेड़ी खीर साबित होता नजर आ रहा है। इस बीच यूपी के सियासी गलियारों में पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और मुलायम सिंह यादव के बंगलों को लेकर बड़ी अफवाह फैली है। कहा जा रहा है कि इन दोनों ही पूर्व मुख्यमंत्रियों ने अपने आवासों में तहखाने बनाकर बड़ी मात्रा में कालाधन छुपा रखा है। जिस वजह से इन्हें अपने बंगले खाली करने में परेशानी हो रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक इन अफवाहों के साथ तर्क दिया जा रहा है कि मुलायम सिंह यादव के बंगले 5 विक्रमादित्य मार्ग और मायावती के बंगले 13 माल एवेन्यू में तहखानों के भीतर बड़ी बड़ी तिजोरियां मौजूद हैं। जिस समय ये बंगले इनके रहने के लिए बनाए गए थे, उस समय बैंकों में लगने वाली तिजोरियां मंगाई गयीं थीं। ये तिजोरियां इतनी भारी भरकम थीं कि इन्हें लगाने के लिए उस समय क्रेनों की मदद ली गई थी। रात के समय बड़ी ​क्रेनों की मदद से उन तिजोरियों को इन सरकारी बंगलों के भीतर बनाए गए तहखानों तक पहुंचाया गया था। जिनके भीतर इन नेताओं ने काली कमाई का बड़ा हिस्सा सुरक्षित रखा हुआ है।

{ यह भी पढ़ें:- यूपी पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड परीक्षा निरस्त, जानें लेटर का वायरल सच }

अफवाह फैलाने वालों का कहना यह भी है कि जितने भी पूर्व मुख्यमंत्री है सभी ने अपने बंगले खाली करने की तैयारी कर ली है। सिर्फ मुलायम सिंह यादव और मायावती ही ऐसे पूर्व मुख्यमंत्री बचते हैं जिन्होंने अतिरिक्त समय की मांग की है, जबकि वास्तविकता में ​इन दोनों नेताओं के पास राजधानी में ही करोड़ों की कीमत वाली कोठियां मौजूद हैं।

इन दोनों ही मुख्यमंत्रियों को लेकर फैल रही इस खबर के सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं, कहा जा रहा है कि यूपी में सपा और बसपा के बीच हुए गठबंधन की हवा निकालने के लिए केन्द्र और सूबे की सत्तारूढ़ भाजपा सरकारें इन तिजारियों से निकलने वाली संपत्ति की धरपकड़ के लिए भी सरकारी तंत्र को बैठाए हुए है। जिस वजह से मायावती और मुलायम के लिए ​इन तिजोरियों में बंद माया जी का जंजाल बन सकती है।

अब इन अफवाहों में कितनी असलियत है और कितनी कल्पना ये आने वाला समय ही बताएगा, फिलहाल देखने वाली बात ये होगी कि मायावती और मुलायम सिंह यादव अपने बंगलों को कब तक खाली करते है या फिर उन्हें बचाने के लिए किस हद तक जाते हैं।

{ यह भी पढ़ें:- आगरा में प्रसूता ने अस्पताल परिसर में जना बच्चा, वीडियो वॉयरल }

लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी के पूर्व मुख्यमंत्रियों के बंगले खाली करवाना राज्य संपत्ति विभाग के लिए टेड़ी खीर साबित होता नजर आ रहा है। इस बीच यूपी के सियासी गलियारों में पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और मुलायम सिंह यादव के बंगलों को लेकर बड़ी अफवाह फैली है। कहा जा रहा है कि इन दोनों ही पूर्व मुख्यमंत्रियों ने अपने आवासों में तहखाने बनाकर बड़ी मात्रा में कालाधन छुपा रखा है। जिस वजह से इन्हें अपने बंगले खाली…
Loading...