1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. कॉमनवेल्थ संसदीय सम्मेलन में पाक ने उठाया कश्मीर का मुद्दा, भारतीय सांसदों ने कहा- पहले अपना घर देखो

कॉमनवेल्थ संसदीय सम्मेलन में पाक ने उठाया कश्मीर का मुद्दा, भारतीय सांसदों ने कहा- पहले अपना घर देखो

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ( Jammu-Kashmir) को लेकर भारत के खिलाफ झूठ फैलाने से पाकिस्तान (Pakistan) बाज़ नहीं आ रहा है। युगांडा की राजधानी कम्पाला में आयोजित 64वें राष्ट्रमंडल संसदीय सम्मेलन (64th Commonwealth Parliamentary Conference) की आम सभा के दौरान पाकिस्तानी संसदीय प्रतिनिधिमंडल ने कश्मीर का मुद्दा उठाया। जिसका भारत ने विरोध किया है।

दरअसल, पाकिस्तानी प्रतिनिधिनियों ने शनिवार को कश्मीर में सुरक्षा बलों की मौजूदगी पर सवाल उठाया। इसका जवाब देते हुए भारत ने कहा कि उसे पहले अपने घर में झांकना चाहिए, जहां सैन्य शासन एक परंपरा बन चुकी है। भारतीय संसदीय शिष्टमंडल की सदस्य रूपा गांगुली ने पाकिस्तानी दुष्प्रचार का पुरजोर विरोध करते हुए कहा कि सैनिक शासन की परंपरा पाकिस्तान में रही है और वह 33 साल सेना के शासन में रहा है। भारत में सैनिक शासन कभी भी और कहीं भी नहीं रहा है।

आपको बता दे कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला के नेतृत्व में भारतीय संसदीय शिष्टमंडल युगांडा के कंपाला में 22 से 29 सितंबर तक आयोजित 64 वें राष्ट्रमंडल संसदीय सम्मेलन में भाग ले रहे है।

इस शिष्टमंडल में लोकसभा सांसद अधीर रंजन चौधरी, राज्यसभा सांसद रूपा गांगुली और डॉ एल हनुमंथैया, लोकसभा सांसद अपराजिता सारंगी समेत लोकसभा की महासचिव स्नेहलता श्रीवास्तव शामिल हैं। इसके अलावा भारत की ओर से राज्य विधानमंडलों के पीठासीन अधिकारी और सचिव इस सम्मेलन में भाग ले रहे हैं।

गौरतलब है कि पाकिस्तान ने इससे पहले मालदीव में एक और दो सितंबर को आयोजित किये गए दक्षिण एशियाई देशों की संसदों के अध्यक्षों के चौथे शिखर सम्मलेन में भी कश्मीर मामले का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिश की थी, जिसका लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला के नेतृत्व में जोरदार विरोध किया गया था और और पाकिस्तान द्वारा उठाये गए मुद्दों को सिरे से खारिज कर दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...