सीरिया में संघर्ष रोकने के लिए रूस के साथ आए फ्रांस, जर्मनी

सीरिया संघर्षः संघर्ष रोकने के लिए रूस के साथ आए फ्रांस, जर्मनी
सीरिया संघर्षः संघर्ष रोकने के लिए रूस के साथ आए फ्रांस, जर्मनी

पेरिस। फ्रांस और जर्मनी ने कहा है कि वे सीरिया में संघर्ष की समाप्ति के लिए रूस और अपने यूरोपीय सहयोगियों के साथ काम करने के लिए तैयार हैं। सूत्रों के अनुसार, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ टेलीफोन पर बातचीत करने के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल द्वारा रविवार को एक संयुक्त बयान में यह बात कही गई।

फ्रांस के राष्ट्रपति कार्यालय द्वारा जारी किए गए बयान के अनुसार, यूरोप और विदेश मामलों के फ्रांसीसी मंत्री जीन-यवेस ले ड्रियन इस संदर्भ में 27 फरवरी को मॉस्को जाएंगे। फ्रांसीसी राष्ट्रपति कार्यालय के अनुसार, मैक्रों और मर्केल ने पुतिन से टेलीफोन वार्ता के दौरान कहा कि सीरिया की सरकार पर तुरंत बमबारी रोकने और शनिवार को पारित हुए संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को एक मजबूत निगरानी तंत्र के कार्यान्वयन के साथ बिना विलंब के लागू करने का दबाव बनाया जाना चाहिए।

{ यह भी पढ़ें:- गृहमंत्री की टिप्पणी को मर्केल ने किया खारिज, कहा- इस्लाम जर्मनी की संस्कृति से जुड़ा है }

बयान के अनुसार, मैक्रों और मर्केल ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की ओर से सीरिया में 30 दिनों के राष्ट्रव्यापी युद्ध विराम की मांग के प्रस्ताव को मंजूरी दिए जाने का स्वागत किया है ताकि इस दौरान जरूरत के सामानों की आपूर्ति और चिकित्सीय सहायता पहुंचाई जा सके।

{ यह भी पढ़ें:- सीरिया समझौता खत्म करने की कोशिशों को करेंगे नाकाम : रूस }

पेरिस। फ्रांस और जर्मनी ने कहा है कि वे सीरिया में संघर्ष की समाप्ति के लिए रूस और अपने यूरोपीय सहयोगियों के साथ काम करने के लिए तैयार हैं। सूत्रों के अनुसार, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ टेलीफोन पर बातचीत करने के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल द्वारा रविवार को एक संयुक्त बयान में यह बात कही गई। फ्रांस के राष्ट्रपति कार्यालय द्वारा जारी किए गए बयान के अनुसार, यूरोप और विदेश मामलों…
Loading...