प्रद्युम्न की हत्या के 10 दिन बाद खुला रेयान स्कूल, पिता कर रहे स्कूल बंद करने की मांग

नई दिल्ली। रेयान इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में बीते आठ सितंबर को हुई सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की हत्या के 10 दिनों बाद सोमवार को स्कूल दोबारा खुला। हरियाणा सरकार द्वारा स्कूल प्रबंधन को निलंबित करने और गुरुग्राम के डिप्टी कमिश्नर विनय प्रताप सिंह को नए व्यवस्थापक के तौर पर नियुक्त करने के बाद स्कूल को दोबारा खोला गया है। प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने इसका विरोध किया है। उन्होंने इसके लिए गुरुग्राम के डिप्टी कमिश्नर को खत लिखकर इसका विरोध जताया है।

किसी भी तरह की गड़बड़ी को रोकने के लिए गुरुग्राम के भोंडसी में स्थित इस स्कूल परिसर में मीडिया के घुसने पर भी रोक लगा दी गई है। सरकार ने कक्षा 2 के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या के मामले में सीबीआई जांच का आदेश दिया है। प्रद्युम्न के पिता वरुण चंद्रा ठाकुर ने सर्वोच्च अदालत से अपने बेटे की हत्या के मामले की सीबीआई जांच पूरी होने तक स्कूल को बंद रखे का निर्देश देने की मांग की थी।

{ यह भी पढ़ें:- प्रद्युम्न ठाकुर हत्याकांड: CBI टीम पहुंची रेयान स्कूल, खंगालेगी हत्या के सुराग }

उन्होंने स्कूल के दोबारा खुलने पर सबूतों के साथ छेड़छाड़ की आशंका व्यक्त की है। उन्होंने लिखा कि सीबीआई ने अभी तक केस अपने हाथ में नहीं लिया है। लेकिन इससे पहले ही स्कूल खुल गया है, जिससे सबूतों को खतरा पहुंच सकता है।

डरे हुए हैं बच्चे-

{ यह भी पढ़ें:- रयान इंटरनेशनल स्कूल ग्रुप के मालिकों को नहीं मिली अग्रिम जमानत }

स्कूल खुलते ही बच्चों का पहुंचना शुरू हो गया। स्कूल पहुंचे एक छात्र ने कहा कि स्कूल आने में काफी डर लग रहा है लेकिन क्योंकि स्कूल खुला है इसलिए आना जरूरी था। वहीं स्कूल पहुंचे अभिभावक ने कहा कि क्योंकि हमारा बच्चा 11वीं क्लास में पढ़ रहा है इसलिए हम उसकी पढ़ाई का नुकसान नहीं कर सकते हैं।