‘सचिन-गावस्कर की कोहली कभी नहीं कर सकते बराबरी’

Javed Miandad
'सचिन-गावस्कर की कोहली कभी नहीं कर सकते बराबरी'

पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज जावेद मियांदाद ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को लेकर बड़ा बयान दिया है. जावेद मियांदाद के मुताबिक विराट कोहली की तुलना भारत के पूर्व महान बल्लेबाजों सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर से नहीं की जा सकती.

Sachin Gavaskars Kohli Can Never Be Equal :

जावेद मियांदाद का मानना है कि दूसरा सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर मिलना मुश्किल है. विराट कोहली अपने समय के बेहतरीन बल्लेबाज हैं, लेकिन वह सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर की तरह नहीं बन सकते.

मियांदाद ने टेलीग्राफ से कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि मेरे युग के बल्लेबाजों की तुलना अभी के बल्लेबाजों के साथ की जा सकती है. आप एक और सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर नहीं बना सकते.’

मियांदाद ने कहा, ‘हमारे समय में तेज गेंदबाज आज के मुकाबले ज्यादा खतरनाक होते थे. मियांदाद ने कहा, ‘उन्होंने मैलकम मार्शल, रिचर्ड हेडली, डेनिस लिली, जेफ थॉमसन जैसे गेंदबाजों को तेज पिचों पर खेला था. हमें बाउंसी विकेट पर मार्शल, हेडली, लिली और थॉम्सन जैसे खतरनाक गेंदबाजों के सामने जूझना पड़ता था.’

मियांदाद के मुताबिक अब क्रिकेट में हालात बदल चुके हैं. आज के बल्लेबाज जैसे विराट कोहली, स्टीव स्मिथ और बाबर आजम की तुलना पहले के बल्लेबाजों के साथ नहीं की जा सकती. ये सब बेहतरीन हैं, लेकिन पहले के बल्लेबाजों की बात ही अलग थी.

जावेद मियांदाद ने कहा, ‘आप किसी भी दिग्गज को अपना आदर्श मान सकते हो, लेकिन किसी की क्लास और टैलेंट को नहीं बदल सकते.आप अलग-अलग पीढ़ियों के खिलाड़ियों की तुलना नहीं कर सकते.’

जावेद मियांदाद ने कहा कि सुनील गावस्कर या सचिन तेंदुलकर जैसे खिलाड़ी मिलना बहुत मुश्किल है, क्योंकि वे एक अलग लेवल के खिलाड़ी थे.

बता दें कि कोहली के नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 70 शतक हैं. तेंदुलकर के नाम 100 शतकों का रिकॉर्ड है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सुनील गावस्कर के नाम 13,000 से ज्यादा रन हैं.

पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज जावेद मियांदाद ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को लेकर बड़ा बयान दिया है. जावेद मियांदाद के मुताबिक विराट कोहली की तुलना भारत के पूर्व महान बल्लेबाजों सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर से नहीं की जा सकती. जावेद मियांदाद का मानना है कि दूसरा सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर मिलना मुश्किल है. विराट कोहली अपने समय के बेहतरीन बल्लेबाज हैं, लेकिन वह सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर की तरह नहीं बन सकते. मियांदाद ने टेलीग्राफ से कहा, 'मुझे नहीं लगता कि मेरे युग के बल्लेबाजों की तुलना अभी के बल्लेबाजों के साथ की जा सकती है. आप एक और सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर नहीं बना सकते.' मियांदाद ने कहा, 'हमारे समय में तेज गेंदबाज आज के मुकाबले ज्यादा खतरनाक होते थे. मियांदाद ने कहा, 'उन्होंने मैलकम मार्शल, रिचर्ड हेडली, डेनिस लिली, जेफ थॉमसन जैसे गेंदबाजों को तेज पिचों पर खेला था. हमें बाउंसी विकेट पर मार्शल, हेडली, लिली और थॉम्सन जैसे खतरनाक गेंदबाजों के सामने जूझना पड़ता था.' मियांदाद के मुताबिक अब क्रिकेट में हालात बदल चुके हैं. आज के बल्लेबाज जैसे विराट कोहली, स्टीव स्मिथ और बाबर आजम की तुलना पहले के बल्लेबाजों के साथ नहीं की जा सकती. ये सब बेहतरीन हैं, लेकिन पहले के बल्लेबाजों की बात ही अलग थी. जावेद मियांदाद ने कहा, 'आप किसी भी दिग्गज को अपना आदर्श मान सकते हो, लेकिन किसी की क्लास और टैलेंट को नहीं बदल सकते.आप अलग-अलग पीढ़ियों के खिलाड़ियों की तुलना नहीं कर सकते.' जावेद मियांदाद ने कहा कि सुनील गावस्कर या सचिन तेंदुलकर जैसे खिलाड़ी मिलना बहुत मुश्किल है, क्योंकि वे एक अलग लेवल के खिलाड़ी थे. बता दें कि कोहली के नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 70 शतक हैं. तेंदुलकर के नाम 100 शतकों का रिकॉर्ड है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सुनील गावस्कर के नाम 13,000 से ज्यादा रन हैं.