ICC ने सचिन तेंदुलकर को दिया एक और बड़ा सम्मान, इस खास क्लब में हुए शामिल

sachin
ICC ने सचिन तेंदुलकर को दिया एक और बड़ा सम्मान, इस खास क्लब में हुए शामिल

नई दिल्ली। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने क्रिकेट के भगवान मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को उनकी महान उपलब्धियों के लिए एक बड़े सम्मान से सम्मानित किया है। लंदन में हुए एक समारोह में सचिन के अलावा साउथ अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज एलन डोनाल्ड और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महिला तेज गेंदबाज कैथरीन समेत तीन लोगों को यह सम्मान दिया गया. मास्टर ब्लास्टर इस सम्मान को पाने वाले छठें भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं।

Sachin Tendulkar And Allan Donald Inducted Into Icc Hall Of Fame :

सचिन से पहले भारत की तरफ से ये सम्मान बिशन सिंह बेदी, कपिल देव, सुनील गावस्कर, अनिल कुंबले और राहुल द्रविड़ पा चुके हैं। आईसीसी के मुख्य कार्रकारी अधिकारी मनु साहनी ने कहा कि इस वर्ष आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम के लिए सचिन, एलन डोनाल्ड व कैथरीन जैसे तीन शानदार खिलाड़ियों के नाम की घोषणा की गई थी।

सचिन का शानदार क्रिकेट करियर

सचिन (करियर 1989-2013) ने 200 टेस्ट मैचों में 53.78 की औसत से 15921 रन बनाए, जिसमें उनके 51 शतक शामिल हैं। साथ ही सचिन ने 463 वनडे इंटरनेशनल में 44.83 की औसत से 18426 रन बनाए, जिसमें उनके 49 शतक शामिल हैं। इस तरह वह 100 अंतरराष्ट्रीय शतक जमाने वाले एकमात्र बल्लेबाज हैं।

क्या है आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम

आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम ऐसा समूह या सूची है जिसका उद्देश्य क्रिकेट इतिहास के दिग्गज खिलाड़ियों की उपलब्धियों को पहचान कर उन्हें सम्मानित करना है। यह समूह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल क्रिकेटर्स एसोसिएशन के सहयोग से शुरू किया गया है। शुरुआती दौर में इसमें 55 खिलाड़ी शामिल थे।

आईसीसी के इस अवॉर्ड्स समारोह के दौरान हर साल नए सदस्यों को इसमें शामिल किया जाता है। आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम की शुरूआती सूची में डब्ल्यू जी ग्रेस, ग्राहम गूच, बैरी रिचर्ड्स जैसे दिग्गज खिलाड़ी शामिल हैं। अन्य देशों के खिलाड़ियों की तुलना में हॉल ऑफ फेम में अंग्रेज खिलाड़ियों की संख्या अधिक है।

नई दिल्ली। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने क्रिकेट के भगवान मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को उनकी महान उपलब्धियों के लिए एक बड़े सम्मान से सम्मानित किया है। लंदन में हुए एक समारोह में सचिन के अलावा साउथ अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज एलन डोनाल्ड और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महिला तेज गेंदबाज कैथरीन समेत तीन लोगों को यह सम्मान दिया गया. मास्टर ब्लास्टर इस सम्मान को पाने वाले छठें भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। सचिन से पहले भारत की तरफ से ये सम्मान बिशन सिंह बेदी, कपिल देव, सुनील गावस्कर, अनिल कुंबले और राहुल द्रविड़ पा चुके हैं। आईसीसी के मुख्य कार्रकारी अधिकारी मनु साहनी ने कहा कि इस वर्ष आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम के लिए सचिन, एलन डोनाल्ड व कैथरीन जैसे तीन शानदार खिलाड़ियों के नाम की घोषणा की गई थी। सचिन का शानदार क्रिकेट करियर सचिन (करियर 1989-2013) ने 200 टेस्ट मैचों में 53.78 की औसत से 15921 रन बनाए, जिसमें उनके 51 शतक शामिल हैं। साथ ही सचिन ने 463 वनडे इंटरनेशनल में 44.83 की औसत से 18426 रन बनाए, जिसमें उनके 49 शतक शामिल हैं। इस तरह वह 100 अंतरराष्ट्रीय शतक जमाने वाले एकमात्र बल्लेबाज हैं। क्या है आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम ऐसा समूह या सूची है जिसका उद्देश्य क्रिकेट इतिहास के दिग्गज खिलाड़ियों की उपलब्धियों को पहचान कर उन्हें सम्मानित करना है। यह समूह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल क्रिकेटर्स एसोसिएशन के सहयोग से शुरू किया गया है। शुरुआती दौर में इसमें 55 खिलाड़ी शामिल थे। आईसीसी के इस अवॉर्ड्स समारोह के दौरान हर साल नए सदस्यों को इसमें शामिल किया जाता है। आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम की शुरूआती सूची में डब्ल्यू जी ग्रेस, ग्राहम गूच, बैरी रिचर्ड्स जैसे दिग्गज खिलाड़ी शामिल हैं। अन्य देशों के खिलाड़ियों की तुलना में हॉल ऑफ फेम में अंग्रेज खिलाड़ियों की संख्या अधिक है।