साध्वी प्रज्ञा ने कहा, मुझे गर्व है कि मैंने ​अयोध्या में विवादित ढांचा तोड़ा, राम मंदिर निर्माण में करूंगी मदद

sadhvi pragya
साध्वी प्रज्ञा ने फिर दिया विवादित बयान, कहा, अयोध्या गई और विवादित ढांच पर चढ़कर तोड़ा, मुझे गर्व है

भोपाल। मुंबई हमले में शहीद हेंमत करकरे पर विवादित बयान देकर घिरीं भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ने एक ​बार फिर विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने कहा कि मैं अयोध्या गई थी ​और विवादित ढांचे पर चढ़कर तोड़ा था इसके लिए मुझे गर्व है। उन्होंने कहा कि ईश्वर ने मुझे शक्ति दी थी, इसलिए मैंने यह काम किया। मैंने देश का कलंक मिटाया था।

Sadhvi Pragya Again Gave The Controversial Statement Said Ayodhya Went And Broke The Controversial Framework I Am Proud :

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं आगे भी वहां जाऊंगी और राम मंदिर के निर्माण में मदद करूंगी। कोई भी हमें ऐसा करने से नहीं रोक सकता है। राम ही राष्ट्र हैं और राष्ट्र ही राम है। वहीं इस बयान के बाद ​चुनाव आयोग ने खुद ही मामले का संज्ञान लेकर उन्हें नोटिस भेजा है। साध्वी प्रज्ञा को यह दूसरा नोटिस चुनाव आयोग की तरफ से भेजा गया है।

भारतीय जनता पार्टी ने भोपाल से साध्वी प्रज्ञा सिंह को टिकट दिया है। वहीं कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह को यहां से चुनावी मैदान में उतारा है। साध्वी प्रज्ञा और दिग्विजय सिंह के भोपल सीट से चुनावी मैदान में उतरने के बाद वहां का मुकाबला दिलचस्प हो गया है। भोपाल से टिकट मिलने के बाद साध्वी प्रज्ञा लगातार विवादित बयान दे रही हैं। उन्होंने इस बार अयोध्या में विवादित ढांचे को लेकर ​बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मैंने विवादित ढांचे को गिराया है। इसके साथ ही कहा कि वह अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण में मदद करूंगी।

अयोध्या का विवादित ढांचा गिराए जाने को लेकर साध्वी प्रज्ञा का यह बयान महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि भाजपा के सभी नेता सीधे तौर पर इसको लेकर कुछ भी कहने से बचते रहे हैं। गौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा मुंबई हमले में शहीद हेंमत करकरे को लेकर विवाविद बयान दिया था। उन्होंने कहा कि था कि उन्हें अपने कर्मों की सजा मिली है। हालांकि बाद में साध्वी प्रज्ञात ने इसका लेकर माफी मांगी थी। हालांकि उनके इस बयान के बाद से विपक्ष हमलावार हो गया है।

इसके साथ ही चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा है। वहीं, शिवपुरी में नामांकन दाखिल करने के दौरान कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने साध्वी प्रज्ञा के बयान को लेकर कहा कि यह भाजपा का असली चेहरा है। वह शहीद को देशद्रोही कह रहे हैं। ऐसे राष्ट्रवाद पर धिक्कार है, जो शहीद को देशद्रोही करार दे। ये कैसा राष्ट्रवाद है, जिसमें उन्होंने 30 साल तक अपने कार्यालय पर देश का झंडा नहीं फहराया? अफजल और मसूद अजहर को प्लेन में बैठाकर अफगानिस्तान तक छोड़ा।

भोपाल। मुंबई हमले में शहीद हेंमत करकरे पर विवादित बयान देकर घिरीं भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ने एक ​बार फिर विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने कहा कि मैं अयोध्या गई थी ​और विवादित ढांचे पर चढ़कर तोड़ा था इसके लिए मुझे गर्व है। उन्होंने कहा कि ईश्वर ने मुझे शक्ति दी थी, इसलिए मैंने यह काम किया। मैंने देश का कलंक मिटाया था। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं आगे भी वहां जाऊंगी और राम मंदिर के निर्माण में मदद करूंगी। कोई भी हमें ऐसा करने से नहीं रोक सकता है। राम ही राष्ट्र हैं और राष्ट्र ही राम है। वहीं इस बयान के बाद ​चुनाव आयोग ने खुद ही मामले का संज्ञान लेकर उन्हें नोटिस भेजा है। साध्वी प्रज्ञा को यह दूसरा नोटिस चुनाव आयोग की तरफ से भेजा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने भोपाल से साध्वी प्रज्ञा सिंह को टिकट दिया है। वहीं कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह को यहां से चुनावी मैदान में उतारा है। साध्वी प्रज्ञा और दिग्विजय सिंह के भोपल सीट से चुनावी मैदान में उतरने के बाद वहां का मुकाबला दिलचस्प हो गया है। भोपाल से टिकट मिलने के बाद साध्वी प्रज्ञा लगातार विवादित बयान दे रही हैं। उन्होंने इस बार अयोध्या में विवादित ढांचे को लेकर ​बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मैंने विवादित ढांचे को गिराया है। इसके साथ ही कहा कि वह अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण में मदद करूंगी। अयोध्या का विवादित ढांचा गिराए जाने को लेकर साध्वी प्रज्ञा का यह बयान महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि भाजपा के सभी नेता सीधे तौर पर इसको लेकर कुछ भी कहने से बचते रहे हैं। गौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा मुंबई हमले में शहीद हेंमत करकरे को लेकर विवाविद बयान दिया था। उन्होंने कहा कि था कि उन्हें अपने कर्मों की सजा मिली है। हालांकि बाद में साध्वी प्रज्ञात ने इसका लेकर माफी मांगी थी। हालांकि उनके इस बयान के बाद से विपक्ष हमलावार हो गया है। इसके साथ ही चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा है। वहीं, शिवपुरी में नामांकन दाखिल करने के दौरान कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने साध्वी प्रज्ञा के बयान को लेकर कहा कि यह भाजपा का असली चेहरा है। वह शहीद को देशद्रोही कह रहे हैं। ऐसे राष्ट्रवाद पर धिक्कार है, जो शहीद को देशद्रोही करार दे। ये कैसा राष्ट्रवाद है, जिसमें उन्होंने 30 साल तक अपने कार्यालय पर देश का झंडा नहीं फहराया? अफजल और मसूद अजहर को प्लेन में बैठाकर अफगानिस्तान तक छोड़ा।