सहारनपुर : पत्रकार और उसके भाई की गोली मारकर हत्या, मां व मामा घायल

murder

लखनऊ। सहारनपुर में रविवार सुबह बदमाशों ने एक पत्रकार और उसके भाई की गोली मारकर हत्या कर दी। इस वारदात में पत्रकार की मां और उसका मामा घायल हो गए। घटना की भनक लगते ही जिले में हड़कंप मच गया। तुरन्त पुलिस के आलाधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के साथ ही घायलों को अस्पताल पहुंचाया। फिलहाल घटना को अंजाम देने के बाद हत्यारे वहां से फरार हो गए।

Saharanpur Journalist And His Brother Shot Dead Mother And Uncle Injured In Saharanpur :

बताया जा रहा है कि घटना रविवार को सुबह करीब साढ़े नौ बजे की है। थाना कोतवाली नगर क्षेत्र के मोहल्ला माधवनगर निवासी आशीष कुमार एक समाचार पत्र में संवाददाता थे। उनका उनके पड़ोसी महिपाल सोनी के साथ नाली में कूड़ा डालने को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा था। इसी विवाद में महीपाल पक्ष ने घर में घुसकर फायरिंग कर दी। जिसमें गौरी की मौके पर ही, जबकि आशीष की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

इस हमले में घर पर मौजूद आशीष की मां और मामा बीच में आए तो वो लोग भी गंभीर रूप से घायल हो गए। फिलहाल दोनों घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित के परिवार को दस लाख रुपए की आथिर्क सहायता देने की घोषणा की है। वहीं पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर फरार आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है।

लखनऊ। सहारनपुर में रविवार सुबह बदमाशों ने एक पत्रकार और उसके भाई की गोली मारकर हत्या कर दी। इस वारदात में पत्रकार की मां और उसका मामा घायल हो गए। घटना की भनक लगते ही जिले में हड़कंप मच गया। तुरन्त पुलिस के आलाधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के साथ ही घायलों को अस्पताल पहुंचाया। फिलहाल घटना को अंजाम देने के बाद हत्यारे वहां से फरार हो गए। बताया जा रहा है कि घटना रविवार को सुबह करीब साढ़े नौ बजे की है। थाना कोतवाली नगर क्षेत्र के मोहल्ला माधवनगर निवासी आशीष कुमार एक समाचार पत्र में संवाददाता थे। उनका उनके पड़ोसी महिपाल सोनी के साथ नाली में कूड़ा डालने को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा था। इसी विवाद में महीपाल पक्ष ने घर में घुसकर फायरिंग कर दी। जिसमें गौरी की मौके पर ही, जबकि आशीष की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। इस हमले में घर पर मौजूद आशीष की मां और मामा बीच में आए तो वो लोग भी गंभीर रूप से घायल हो गए। फिलहाल दोनों घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित के परिवार को दस लाख रुपए की आथिर्क सहायता देने की घोषणा की है। वहीं पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर फरार आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है।