लापरवाही के चलते सहारनपुर में फ़ैली हिंसा, दो कम्पनी आरएएफ और भेजी गयी

नई दिल्ली: सहारनपुर में हालात के मद्देनजर दो कम्पनी आरएएफ और भेजी गयी है। फिलहाल, आला अधिकारी मौके पर कैम्प किये हुए हैं। हिंसा के आरोपितों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। इस बीच गृह सचिव मणि प्रसाद मिश्र ने कहा कि स्थानीय स्तर पर शरुआत में लापरवाही हुई, जिसके कारण सहारनपुर में हिंसा फैली। सहारनपुर भेजे गये डीएम प्रमोद कुमार पाण्डेय व एसएसपी बबलू कुमार ने बृहस्पतिवार को अपना कार्यभार ग्रहण कर लिया। इसके बाद इन अफसरों ने संयुक्त रूप से हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया।




इन अफसरों के निर्देश पर नये सिरे से हिंसा फैलाने वालों को चिह्नित किया जा रहा है। इनमें से कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है। जगह-जगह पर पुलिस, पीएसी व आरएफ के जवान तैनात किये गये हैं। हालात को देखते हुए दो कम्पनी आरएएफ और भेजी गयी है। उधर, लखनऊ से भेजे गये अफसर अभी सहारनपुर में कैम्प कर स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। इस बीच गृह सचिव मणि प्रसाद मिश्र ने बताया कि जांच-पड़ताल में पता चला है कि सहारनपुर में सुनियोजित तरीके से हिंसा हुई।




हिंसा को लेकर शुरुआत में ही जरूरी कदम नहीं उठाये गये, जिसके कारण हिंसा ने विकराल रूप धारण कर लिया। प्रथम दृष्टया लापरवाह पाये गये डीएम एनपी सिंह व एसएसपी सुभाष चन्द दुबे को निलम्बित किया गया है, साथ ही मण्डलायुक्त व डीआईजी को हटाया गया है। इसके अतिरिक्त केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने सहारनपुर में हिंसा के सम्बन्ध में विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। गृह विभाग के प्रवक्ता के मुताबिक रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भेज दी गयी है।