कालेधन के रखवाले हैं नोटबंदी का विरोध करने वाले: साक्षी महाराज

लखनऊ। उन्नाव से भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि नोटबंदी का फैसला आते ही अखिलेश का विकास रथ रुक गया, चचा-भतीजे का विवाद थम गया, 20 दिन में रामगोपाल की वापसी हो गई और मायावती घबरा गई कि उन्होंने प्रधानमंत्री के इस फैसले को आर्थिक इमरजेंसी तक कह डाला। सरकार के इस फैसले से विदेशों में मोदी का डंका बज रहा है और देश की जनता के चेहरे खिल गये। नोटबंदी का विरोध करने वाली ममता व केजरीवाल सहित सभी नेता कालेधन के रखवाले हैं।




सांसद साक्षी महाराज रविवार को सरोजनीनगर विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी रुद्रदमन सिंह उर्फ बब्लू सिंह द्वारा कानपुर रोड स्थित सैनिक स्कूल मैदान में आयोजित विषाल कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने एक ही छक्के में सोनिया के पप्पू सहित सभी छोटे-बड़े को बराबर कर दिया। देश की जनता को अब अच्छे दिन आने का एहसास होने लगा है। उन्होंने सपा व बसपा पर जनता को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव के दौरान दोनों एक दूसरे को जेल भेजने का वादा करते हैं, लेकिन सत्ता में आने के बाद दोस्ती कर लेते हैं।







उन्होंने कहा कि भाजपा को मौका दो वह मुलायम सिंह व मायावती दोनों को जेल भेज देंगे। उन्होंने समाजवादी पार्टी को प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी बताते हुए कहा कि बाप के बाद बेटा व बेटे के बाद पोता ही गद्दी संभालता है, लेकिन बसपा सुप्रीमो ने तो जिसे उत्तराधिकारी घोषित किया उसे कोई जनता ही नहीं है। नोटबंदी के विरोध पर उन्होंने मायावती, ममता बनर्जी व अरविन्द केजरीवाल को भी कटघरे में खड़ा किया। इस मौके पर भाजपा सैनिक प्रकोष्ठ के जिला संयोजक पूर्व सैनिक मनोज सिंह, जिपंस महीप सिंह, चन्दर सिंह, रजनीश सिंह सहित हजारों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Loading...