सपा में अब ‘साइकिल’ पर कब्जे का घमासान

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के ‘‘साइकिल’ चुनाव चिह्न पर दावे को लेकर प्रतिद्वंद्वी खेमों के निर्वाचन आयोग के पास पहुंचने की योजना के साथ ही यादव कुनबे की लड़ाई सोमवार को दिल्ली पहुंच गई। अखिलेश गुट द्वारा अध्यक्ष पद से हटाए गए मुलायम सिंह यादव ने सोमवार शाम चुनाव आयोग से मिलकर पार्टी के नाम और चुनाव चिह्न ‘‘साइकिल’ पर अपना दावा ठोंका।




मुलायम के साथ उनके भाई शिवपाल यादव, राज्यसभा सांसद अमर सिंह और पूर्व सांसद जयाप्रदा शाम साढ़े चार बजे चुनाव आयोग पहुंचे और आयोग को एक ज्ञापन सौंपकर यह दावा पेश किया। मुलायम सिंह और उनके सहयोगियों की चुनाव आयोग के साथ करीब 45 मिनट तक बातचीत हुई। दूसरी ओर, इसी मुद्दे पर मंगलवार को अखिलेश गुट के नेता रामगोपाल यादव के नेतृत्व में चुनाव आयोग से मिलेंगे। इस बीच, सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने उनके द्वारा पांच जनवरी को आहूत पार्टी अधिवेशन स्थगित कर दिया।




जानकारों का कहना है कि उप्र विधानसभा चुनाव निकट है और निर्वाचन आयोग स्थिति की नाजुकता को देखते हुए दोनों पक्षों को नए नाम और नए चुनाव चिह्न आवंटित कर सकता है। पूर्व ईसी एसवाई कुरैशी ने कहा है कि संभवत: सपा के चुनाव चिह्न पर रोक लगाई जा सकती है और दोनों पक्षों को अस्थायी तौर पर नए चिह्न दिए जा सकते हैं।