राज्य सम्मेलन में अखिलेश बोले- हमें नेताजी का आशीर्वाद मिला है, हम रोके नहीं रुकेंगे

सपा ने अखिलेश को फिर चुना राष्ट्रीय अध्यक्ष, नहीं पहुंचे मुलायम और शिवपाल

लखनऊ। समाजवादी पार्टी(सपा) के 8वें अधिवेशन में राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने वर्तमान योगी सरकार की जमकर आलोचना की। अखिलेश ने कहा कि सरकार के 6 महीने पूरे हो गए है, जिन्हें बहुत वोट मिला उनके बारे में जनता सोच रही है कि किसे बैठा दिया। अखिलेश ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जो श्वेत पत्र जारी किया, वह सफेद झूठ का पुलिंदा है। हमने अभी तो दिल्ली वाली सरकार का आंकलन किया ही नहीं। हमने उनसे भी ज्यादा कार्य किया है।

इस सम्मेलन से सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और शिवपाल सिंह यादव ने दूरी बनाई है। वहीं अखिलेश ने अपने संबोधन में 5 बार मुलायम सिंह यादव का नाम लिया। उन्होंने कहा, हमें नेताजी का आशीर्वाद मिला हुआ है। हम किसी के रोके नहीं रुकेंगे। सपा के 15 हजार से ज्यादा प्रतिनिधि इस सम्मेलन हिस्सा ले रहे हैं।

{ यह भी पढ़ें:- अखिलेश की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में मुलायम के करीबियों को जगह, शिवपाल नदारद }

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि किसानों की कर्जमाफी का वादा करने वालों ने पहली कैबिनेट में ही धोखा दिया। पहले तो किसानों को अलग कर दिया फिर मामूली पैसे देकर सर्टिफिकेट बांट दिए। अखिलेश ने कहा कि समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश की राजनीति में बड़ी हैसियत है। हमने कई बार कहा कि शिक्षा के आंकड़े बेहतर करने हैं तो सबसे पहले यूपी की स्थिति को बेहतर करना होगा।

दोबारा प्रदेश अध्यक्ष बने नरेश उत्तम पटेल-

{ यह भी पढ़ें:- संगीत सोम ने ताजमहल को बताया भारतीय संस्कृति पर धब्बा, ओवैसी ने किया पलटवार }

रमाबाई अंबेडकर मैदान पर हुए सपा के इस सम्मेलन में नरेश उत्तम को दोबारा पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया। सम्मेलन में राजनीतिक प्रस्ताव भी रखा गया। सपा के राजनीतिक प्रस्ताव में कहा गया कि अपनी साख खो रही बीजेपी सरकार सपा सरकार के कामों की जांच का नाटक कर रही है। समाजवादी पार्टी इस अधिवेशन के मंच पर पूर्व मंत्री आजम खान, पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा और वरिष्ठ नेता किरणमय नंदा आदि भी मौजूद रहे।