सपा कार्यालय में नवनिर्वाचित सांसदों का स्वागत, अखिलेश ने कहा पूरे देश तक जाएगी जीत की गूंज

Akhilesh Yadav, सपा
सपा कार्यालय में नवनिर्वाचित सांसदों का स्वागत, अखिलेश ने कहा पूरे देश तक जाएगी जीत की गूंज
लखनऊ। उततर प्रदेश के गोरखपुर और फूलपुर सीट से नवनिर्वाचित सपा सांसदों का पार्टी कार्यालय में जोरदार स्वागत हुआ। नारेबाजी करते कार्यकर्ताओं के हुजूम के साथ कार्यालय पहुंचे नए सांसदों की अगवानी स्वयं पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने की। उनके साथ चुनाव में समर्थन देने वाले अन्य दलों के नेता भी पार्टी कार्यालय पर मौजूद रहे। इस मौके पर अखिलेश यादव ने लोकसभा उपचुनावों में पार्टी के उम्मीदवारों की जीत के लिए मतदाताओं का आभार व्यक्त किया और पार्टी को…

लखनऊ। उततर प्रदेश के गोरखपुर और फूलपुर सीट से नवनिर्वाचित सपा सांसदों का पार्टी कार्यालय में जोरदार स्वागत हुआ। नारेबाजी करते कार्यकर्ताओं के हुजूम के साथ कार्यालय पहुंचे नए सांसदों की अगवानी स्वयं पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने की। उनके साथ चुनाव में समर्थन देने वाले अन्य दलों के नेता भी पार्टी कार्यालय पर मौजूद रहे।

इस मौके पर अखिलेश यादव ने लोकसभा उपचुनावों में पार्टी के उम्मीदवारों की जीत के लिए मतदाताओं का आभार व्यक्त किया और पार्टी को समर्थन देने वाले दल बसपा, राक्रांपा, वामदल, पीस पार्टी, निषाद पार्टी आदि का धन्यवाद किया। उन्होंने उप चुनावों में पार्टी की जीत को जनता और लोकतंत्र की बड़ी जीत बताया और कहा कि इनका संदेश देश भर में जाएगा।

{ यह भी पढ़ें:- गेस्ट हाउस कांड सिर्फ विपक्षी पार्टियों की देन : शिवपाल सिंह यादव }

पार्टी कार्यालय के डा. लोहिया सभागार में अखिलेश यादव ने गोरखपुर सांसद प्रवीण कुमार निषाद तथा फूलपुर सांसद नागेन्द्र प्रताप सिंह पटेल का परिचय कार्यकर्ताओं से करवाते हुए कहा कि इन चुनावों में जीत हजारों में नहीं, लाखों में हैं, क्योंकि दोनों लोकसभा के 2014 में हुए चुनावों में भाजपा तीन-तीन लाख के अंतर से जीती थी। यह गरीबों, किसानों, मजदूरों, महिलाओं, पिछड़ों की जीत है।

अखिलेश यादव ने कहा कि ईवीएम में खराबी आने से घंटों मतदान बाधित न होता तो समाजवादी पार्टी की जीत और ज्यादा मतों से होती। मतदाताओं का गुस्सा बैलट से चुनाव होता तो पूरा उतरता, मशीन पर यह गुस्सा नहीं उतरा। लोकतंत्र में अन्य देशों में भी बैलेट का ही प्रयोग होता है।

{ यह भी पढ़ें:- नरेश उत्तम ने एमएलसी के लिए किया नामांकन करने पहुंचे विधानसभा }

इसके आगे उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी सरकार ने विकास का सही रास्ता दिखाया था। गांवों और साइकिल यात्रा पर ज्यादा भरोसा है। आर्थिक प्रगति की दृष्टि से एक्सप्रेस-वे एक बड़ा उदाहरण हैं। लखनऊ में कम समय में मेट्रो चल गई, दिल्ली-नोएडा, गाजियाबाद में मेट्रो बन रही है। गाजियाबाद में इलेवेटेड 6 लेन की सड़क बनी है। समाजवादी सरकार में ही 1090 वूमेन पावर लाइन, 100 यूपी डायल सेवाएं शुरू हुई। समाजवादी पेंशन पुनः सरकार बनने पर 2 हजार रूपये होगी। इसी सरकार में फल, अनाज, मंड़ियों की स्थापना की गई ताकि किसान अपने उत्पाद को बाजार में लाकर उचित मूल्य प्राप्त कर सकें। समाजवादी सरकार में किसान-गांव के विकास के लिए प्रदेश के बजट में 75 प्रतिशत धनराशि रखी गई थी। आक्सीजन के अभाव में गोरखपुर में बच्चों की मौत पर सरकार संवेदनशून्य रही। समाजवादी सरकार ने गोरखपुर में एम्स के लिए जमीन दी। मेडिकल कालेज खोले।

इस मौके पर मौजूद रहे निषाद पार्टी के डा. संजय निषाद ने कहा कि गोरखपुर में नारा लगता मिला, ‘‘गरीबों के सम्मान में अखिलेश मैदान में‘‘। पीस पार्टी के अध्यक्ष डा. अयूब ने कहा कि भाजपा की बांटने और लड़ाने वाली राजनीति के खिलाफ जो जनादेश आया है। उससे सामाजिक परिवर्तन के संकेत मिलते हैं। अल्पसंख्यकों में खौफ था। उसे अखिलेश यादव के नेतृत्व में मिली जीत ने दूर कर दिया है।

{ यह भी पढ़ें:- ऐतिहासिक है सपा—बसपा गठबंधन : शिवपाल सिंह यादव }

Loading...