जनता के बीच जाने को तैयार ‘समाजवादी विकास रथ’

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तीन नवम्बर से समाजवादी विकास रथ यात्रा पर सवार होकर विधानसभा चुनाव 2017 से पहले जनता की नब्ज टटोलने निकलेंगे। आधुनिक तकनीक से लैस समाजवादी विकास रथ आज पांच कॉलीदास मार्ग पहुंच गया। यात्रा से पहले मंगलवार को इस विशेष रथ की पहली झलक देखने को मिली। परिवारिक कलह के बीच निकल रही इस रथयात्रा पर भी सियासी रंग चढ़ा हुआ है। रथ पर मुख्यमंत्री अखिलेश के साथ उनके पिता व पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की बड़ी तस्वीर है, लेकिन उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव रथ से गायब हैं। अखिलेश के रथ का निर्माण ‘मर्सिडीज बेंज’ ने किया है। इसे हाईटेक और आकर्षक बनाया गया है।



समाजवादी विकास रथ को पार्टी के झंडे के रंग के हिसाब से बनाया गया है। इस रथ पर मुलायम सिंह यादव और अखिलेश की आदम कद तस्वीरें लगी हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में जब अखिलेश क्रांति रथ पर सवार होकर निकले थे, तब जनता के पास उम्मीद लेकर पहुंचे थे। इस बार वह विकास और पूरे हुए वादे के नारे के साथ जनता के बीच जाएंगे। पिछली यात्रा में उन्होंने जनता से जो वादे किए थे, इस बार उनका ब्योरा लेकर वह जनता के पास जाएंगे।




इस रथ यात्रा के लिए खास तौर से एक कैंपेन वीडियो भी तैयार किया गया है। इस वीडियो के बोल हैं ‘काम बोलता है’। यह वीडियो पहले ही हिट हो चुका है। यह वीडियो रथ यात्रा के दौरान कई बार दिखाया जाएगा। रथ में मुख्यमंत्री की सुरक्षा का भी ख्याल रखा गया है। रथ में एलईडी स्क्रीन पर अखिलेश की बड़ी तस्वीर होगी। इस रथ को इस तरह डिजाइन किया गया है कि अखिलेश को जनता आसानी से देख सके। रथ में एक मिनी सीएम ऑफिस भी बनया गया है। साथ ही इंटरनेट कनेक्टिविटी, वाई-फाई जैसी सुविधाएं भी हैं। इसमें हाइड्रोलिक लिफ्ट की भी व्यवस्था है। रथ में लगी बड़ी एलईडी पर प्रदेश सरकार की योजनाओं का भी जिक्र होगा।