संदिग्ध परिस्थितियों में युवक की मौत, दोस्त पर लगा आरोप

बाराबंकी। कोतवाली फतेहपुर क्षेत्र अंतर्गत बीते दिन दोस्त के घर की बिजली बनाने के गये व्यक्ति की करंट लगने से मौत हो गयी। जिसके बाद बिजली बनाने ले गया। दोस्त और उसका साथी फरार हो गये। पुलिस को सूचना मिलने पर लाश को कब्जे में लेकर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेजकर जांच में जुट गयी। मिली जानकारी के मुताबिक कोतवाली क्षेत्र के ग्राम कदीराबाद मजरे सिहाली निवासी दिलीप कुमार रावत 35 पुत्र ओम प्रकाश को बीते दिन सुबह 10 बजे सिहाली निवासी चुन्ना कुरैशी पुत्र कलीम अपने घर की बिजली बनवाने के लिये बुला ले गया था।




चुन्ना के घर के बगल में लगे पोल पर चढ़कर बिजली बनाते समय दिलीप बिजली के करंट के सम्पर्क में आ गया और पोल से नीचे गिरकर गम्भीर रुप से जख्मी हो गया। यह घटना होते देख चुन्ना ने बदहवास होकर उसे अपने घर के अंदर लिटाकर अपने बचाव के लिये रास्ते ढूढ़ने लगा। फिर उसने अपने साथी कलीम हज्जाम जो पड़ोस के सीतापुरवा का निवासी है के जरिये दिलीप को गम्भीर हालत में उसके घर भिजवा दिया।

घर में मौजूद दिलीप की पत्नी सोनापति से कलीम यह कहकर चला गया कि इनकी तबियत खराब है और डाक्टर ने इनसे ज्यादा बातचीत करने को मना किया है। पति की गम्भीर हालत देख सोनापति अपने परिजनों के साथ उसके उपचार के लिये फतेहपुर सीएचसी ले गयी। जहां डाक्टरों ने जिला अस्पताल ले जाने की सलाह दी। जिला अस्पताल के डाक्टरों ने दिलीप की हालत देख परिजनों से देर से लाने की बात कहकर रेफर कर दिया। तब परिजन उसे लेकर हिंद अस्पताल जा रहे थे तभी रास्ते में उसकी मौत हो गयी।




मृतक के परिजनों ने पुलिस में शिकायत की कि दिलीप के दोस्तों चुन्ना और कलीम ने करंट लगने की बात छिपाई और उसकी मौत के ये दोनों ही जिम्मेदार हैं। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। इधर दिलीप की मौत की सूचना मिलने के बाद से चुन्ना और कलीम फरार हो गये हैं।