1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Sanjay Nishad ने सीएम योगी को लिखा पत्र, आरक्षण नहीं तो वोट नहीं का किया जिक्र

Sanjay Nishad ने सीएम योगी को लिखा पत्र, आरक्षण नहीं तो वोट नहीं का किया जिक्र

यूपी की राजधानी लखनऊ में रैली में निषाद समाज (Nishad Samaj) के लिए आरक्षण की घोषणा नहीं हुई है। इससे नाराज निषाद पार्टी (Nishad Party) के अध्यक्ष डॉ. संजय निषाद (Sanjay Nishad) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि सरकार बनने से पहले निषाद समाज (Nishad Samaj) के मुद्दों का हल होगा, तभी उनका फायदा होगा। संजय ने कहा कि अगर निषादों का वोट चाहिए तो इनका ख्याल रखना होगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में रैली में निषाद समाज (Nishad Samaj) के लिए आरक्षण की घोषणा नहीं हुई है। इससे नाराज निषाद पार्टी (Nishad Party) के अध्यक्ष डॉ. संजय निषाद (Sanjay Nishad) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि सरकार बनने से पहले निषाद समाज (Nishad Samaj) के मुद्दों का हल होगा, तभी उनका फायदा होगा। संजय ने कहा कि अगर निषादों का वोट चाहिए तो इनका ख्याल रखना होगा।

पढ़ें :- नौतनवा:ब्लाक प्रमुख ने आरसीसी सड़क के लिए किया भूमि पूजन

बता दें कि भाजपा और निषाद पार्टी (Nishad Party) की संयुक्त रैली में निषाद समाज (Nishad Samaj) को आरक्षण दिए जाने के संबंध में घोषणा होनी थी। संजय भी समाज के लोगों को यह बता कर रैली में लाए थे, लेकिन मंच से घोषणा नहीं हुई। इससे नाराज संजय निषाद (Sanjay Nishad) ने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) को रैली में आरक्षण के संबंध में कुछ न कुछ कहना चाहिए था, लेकिन उन्होंने एक शब्द भी नहीं कहा।

निषाद समाज (Nishad Samaj) के लोग मुझ पर भरोसा करके रैली में आए थे। मंच पर मैंने कहा था कि भाजपा (BJP ) हमारे मुद्दों की वकालत करती आई है और आज मालिक है। उन्होंने कहा कि शाह ने कहा कि सरकार बनने पर हमारे मुद्दों का हल होगा, लेकिन कुछ मुद्दों को सरकार बनने से पहले हल करना होगा।

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में संजय ने कहा है कि 2022 में भाजपा (BJP ) को सरकार बनानी है तो निषाद समाज (Nishad Samaj) का ख्याल रखना होगा। उन्होंने पत्र में यह भी लिखा कि जब गृहमंत्री शाह रैली को संबोधित कर रहे थे, तो हमारे लोग हाथ हिला रहे थे कि आरक्षण नहीं तो वोट नहीं। तब मैंने उनको मना किया। कुछ लोग तो भाजपा (BJP ) के साथ रहने से मना भी कर रहे हैं।

पढ़ें :- BBC Documentary Controversy: दिल्ली से लेकर मुंबई तक बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर हंगामा
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...