संजय राउत बोले-बाला साहब की कसम, अमित शाह से हुई थी 50-50 फार्मुले पर बातचीत

I swear by Bala Saheb
संजय राउत बोले-बाला साहब की कसम, अमित शाह से हुई थी 50-50 फार्मुले पर बातचीत

मुंबई। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के बाद आये नतीजों ने पूरी सियासत ही बदलकर रख दी। जो पहले दोस्त हुआ करते थे आज वो दुश्मन हो गये, जो दुश्मन थे वो आज करीबी बन गये। भाजपा शिवसेना का गठबन्धन टूटा तो दोनो पार्टियों के नेता एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी करने लगे। अमित शाह के बयान पर पलटवार करते हुए संजय राउत ने अमित शाह को झूंठा बता दिया, उन्होने कहा कि जो बातें तय हुई थीं वो अमित शाह ने पीएम को बतायी ही नही। उनका कहना है कि बाला सा​हब के कमरे में बातें हुई थी इसलिए ये बाला साहब का अपमान है।

Sanjay Raut Said I Swear By Bala Saheb Talks With Amit Shah On 50 50 Formula :

संजय राउत ने कहा कि ज्यादातर रैलियों में अमित शाह पीएम मोदी के सामने यह कहते रहे कि देवेंद्र फडणवीस ही मुख्यमंत्री होंगे लेकिन उद्धव ठाकरे ने हर बार अपनी सभाओं में कहा कि सभी को समान जगह दी जाएगी। संजय राउत ने बताया कि जिस कमरे में अमित शाह से चुनाव के पहले बातें हुई थीं वो कमरा बाला साहब ठाकरे का कमरा था। उनका कहना है कि शिवसेना के लिए वो कमरा मंदिर है। अगर कोई कहता है कि ऐसी बातें नहीं हुई तो ये बाला साहेब ठाकरे का अपमान है।

संजय राउत ने बीजेपी व अमित शाह पर तंज कसते हुए कहा ‘प्राण जाए पर वचन न जाए’ उनका कहना था कि शिवसेना के लिए राजनीति व्यापार नहीं है। उनका कहना है कि अगर सारी बातें पीएम तक पंहुचाई जाती तो हालात ये न होते। आपको बता दें कि बुधवार को अमित शाह ने महाराष्ट्र के बारे चुनाव के बाद पहली बार कोई बयान दिया है। उन्होने एक इंटरव्यू में बोलते हुए कहा , ‘हम तो शिवसेना के साथ सरकार बनाने के लिए तैयार थे, चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मैंने कई बार कहा था कि चुनाव जीतने के बाद देवेंद्र फडणवीस ही राज्य के मुख्यमंत्री होंगे। अगर इस पर आपत्ति थी, तो उसी समय कहना चाहिए था, अब वो नई शर्तों के साथ आ गए, जो कि नहीं मानी जा सकती थीं।’

मुंबई। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के बाद आये नतीजों ने पूरी सियासत ही बदलकर रख दी। जो पहले दोस्त हुआ करते थे आज वो दुश्मन हो गये, जो दुश्मन थे वो आज करीबी बन गये। भाजपा शिवसेना का गठबन्धन टूटा तो दोनो पार्टियों के नेता एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी करने लगे। अमित शाह के बयान पर पलटवार करते हुए संजय राउत ने अमित शाह को झूंठा बता दिया, उन्होने कहा कि जो बातें तय हुई थीं वो अमित शाह ने पीएम को बतायी ही नही। उनका कहना है कि बाला सा​हब के कमरे में बातें हुई थी इसलिए ये बाला साहब का अपमान है। संजय राउत ने कहा कि ज्यादातर रैलियों में अमित शाह पीएम मोदी के सामने यह कहते रहे कि देवेंद्र फडणवीस ही मुख्यमंत्री होंगे लेकिन उद्धव ठाकरे ने हर बार अपनी सभाओं में कहा कि सभी को समान जगह दी जाएगी। संजय राउत ने बताया कि जिस कमरे में अमित शाह से चुनाव के पहले बातें हुई थीं वो कमरा बाला साहब ठाकरे का कमरा था। उनका कहना है कि शिवसेना के लिए वो कमरा मंदिर है। अगर कोई कहता है कि ऐसी बातें नहीं हुई तो ये बाला साहेब ठाकरे का अपमान है। संजय राउत ने बीजेपी व अमित शाह पर तंज कसते हुए कहा 'प्राण जाए पर वचन न जाए' उनका कहना था कि शिवसेना के लिए राजनीति व्यापार नहीं है। उनका कहना है कि अगर सारी बातें पीएम तक पंहुचाई जाती तो हालात ये न होते। आपको बता दें कि बुधवार को अमित शाह ने महाराष्ट्र के बारे चुनाव के बाद पहली बार कोई बयान दिया है। उन्होने एक इंटरव्यू में बोलते हुए कहा , 'हम तो शिवसेना के साथ सरकार बनाने के लिए तैयार थे, चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मैंने कई बार कहा था कि चुनाव जीतने के बाद देवेंद्र फडणवीस ही राज्य के मुख्यमंत्री होंगे। अगर इस पर आपत्ति थी, तो उसी समय कहना चाहिए था, अब वो नई शर्तों के साथ आ गए, जो कि नहीं मानी जा सकती थीं।'