1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Sanjay Raut : शिवसेना नेता संजय राउत पांच सितंबर तक रहेंगे जेल में, अदालत से बड़ा झटका

Sanjay Raut : शिवसेना नेता संजय राउत पांच सितंबर तक रहेंगे जेल में, अदालत से बड़ा झटका

पात्रा चॉल भूमि घोटाला (Patra Chawl Land Scam) में सोमवार को शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) को एक बार फिर से बड़ा झटका लगा है। बता दें कि विशेष पीएमएलए अदालत (Special PMLA Court) ने उनकी न्यायिक हिरासत (Judicial Custody) को बढ़ाकर पांच सितंबर तक कर दी है। बता दें कि 60 वर्षीय राउत को ईडी ने 31 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुंबई। पात्रा चॉल भूमि घोटाला (Patra Chawl Land Scam) में सोमवार को शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) को एक बार फिर से बड़ा झटका लगा है। बता दें कि विशेष पीएमएलए अदालत (Special PMLA Court) ने उनकी न्यायिक हिरासत (Judicial Custody) को बढ़ाकर पांच सितंबर तक कर दी है। बता दें कि 60 वर्षीय राउत को ईडी ने 31 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था।

पढ़ें :- Maharashtra News : संजय राउत का जेल में मनेगा दशहरा , जमानत पर सुनवाई 10 अक्तूबर तक टली

ईडी (ED) ने राउत के घर पर सुबह-सुबह छापा मारा था। करीब आठ घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें हिरासत में लिया गया था, इसके बाद देर रात उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। अदालत ने उन्हें चार अगस्त तक ईडी की हिरासत (ED’s Custody) में भेज दिया था। इसके बाद आठ अगस्त तक फिर 22 अगस्त तक रिमांड बढ़ाई गई थी। अब अदालत ने पांच सितंबर तक के लिए रिमांड बढ़ा दी है।

1039.79 करोड़ का है पात्रा चॉल घोटाला

मुंबई पश्चिमी उपगनर के गोरेगांव स्थित सिद्धार्थ नगर के पात्रा चॉल के 47 एकड़ जमीन पर 672 परिवारों के घरों के पुनर्विकास के लिए साल 2007 में सोसायटी द्वारा महाराष्ट्र हाउसिंग डेवलपमेंड अथॉरिटी (Maharashtra Housing Development Authority) और गुरू कंस्ट्रक्शन कंपनी (Guru Construction Company) के बीच करार हुआ था। इस करार के तहत कंपनी को साढ़े तीन हजार से ज्यादा फ्लैट बनाकर म्हाडा को देने थे। उसके बाद बची हुई जमीन प्राइवेट डेवलपर्स को बेचनी थी। डीएचआईएल के राकेश वधावन, सारंग वधावन, प्रवीण राउत और गुरू आशीष इस कंपनी के निदेशक थे। आरोप है कि कंपनी ने म्हाडा को गुमराह कर पात्रा चॉल (Patra Chawl ) की एफएसआई 9 अलग-अलग बिल्डरों को बेच कर 901 करोड़ रुपये जमा किए। उसके बाद मिडोज नामक एक नया प्रोजेक्ट शुरू कर फ्लैट बुकिंग के नाम पर 138 करोड़ रुपये वसूले गए। लेकिन 672 लोगों को उनका मकान नहीं दिया गया। इस तरह पात्रा चॉल घोटाले (Patra Chawl  Scam) में 1039.79 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ। उसके बाद 2018 में म्हाडा ने गुरू कंस्ट्रक्शन कंपनी (Guru Construction Company) के खिलाफ एफआईआर दर्ज (Register FIR) कराया।

पात्रा चॉल का संजय राउत कनेक्शन

पढ़ें :- Sanjay Raut की फिर 14 दिन के लिए बढ़ाई गई न्यायिक हिरासत, अब 21 सितंबर को होगी सुनवाई

गुरु कंस्ट्रक्शन कंपनी (Guru Construction Company) के निदेशक रहे प्रवीण राउत, संजय राउत (Sanjay Raut)  के करीबी हैं। ईडी ने प्रवीण को फरवरी 2022 में गिरफ्तार कर लिया था। बताते हैं कि पात्रा चॉल घोटाले (Patra Chawl  Scam)  से प्रवीण ने 95 करोड़ रुपये कमाए और वह पैसा अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को बांटा था। इसमें से 55 लाख रुपये संजय राउत (Sanjay Raut)  की पत्नी वर्षा राउत के खाते में आए थे। इस रकम से राउत ने दादर में फ्लैट खरीदा था। ईडी वर्षा राउत से पूछताछ कर चुकी है। वर्षा ने बताया था कि ये पैसे उन्होंने फ्लैट खरीदने के लिए प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी से लिए थे। ईडी की पूछताछ के बाद वर्षा ने पैसे माधुरी के खाते में ट्रांसफर कर दिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...